न ‘डंडा’ ना ही ‘मुर्गा’, लॉकडाउन तोड़ने वालों पर मऊ पुलिस का पारा राष्ट्रगान के बाद ही उतरा

मऊ। जिला और प्रदेश के बाद पिछले दो दिनों से समूचा देश लॉकडाउन की स्थिति में है। केरल से लेकर कश्मीर और गुजरात से लेकर अरुणाचल तक इसका उल्लघंन करने वालों के खिलाफ पुलिसिया ‘कार्रवाई’ की शिकायत वायरल हो रही है। कहीं पिटाई तो कुछ स्थान पर मुर्गा बनाने के आरोप लग गये हैं। मऊ पुलिस ने कप्तान अनुराग आर्य की हिदायतों को ध्यान में रखते हुए कुछ अलग ही मिसाल पेश की है। अकारण घर से बाहर निकल कर लॉकडाउन का उल्लघंन करने करने को पुलिस ने कुछ अलग ‘सजा’ दी। शहर के गाजीपुर तिराहे पर लाकङाउन तोङ कर सङकों पर निकले युवकों से पहले तो राष्ट्रगान गाने के बाद शपथ दिलाया गया कि वह बिना कारण घर से बाहर नही निकलेगे।

कानून से न करे कोई खिलावाÞॉ

लॉकडाउन के दूसरे दिन गुरुवार को बहुत जरुरी काम होने पर ही घर से लोग निकले। इसके अलावा जो लोग भी बिना कारण घर से निकले तो उनके साथ पुलिस सख्ती से पेश आ रही है। दूसरे दिन पुलिस ने बिना किसी कारण घर से बाहर निकलने वालों से पहले तो राष्ट्रगान गाने को कहा। इसके बाद उनसे शपथ दिलाया गया कि वह किसी भी हाल में कोई जरुरी काम होने पर ही घर से बाहर निकलेगे। पहले दिन घर से बाहर निकलने वालों से उठक बैठक के साथ सपाट मारने की सजा दी थी लेकिन दूसरे दिन राष्ट्रगान पूरा गाने के बाद शपथ दिलाई गयी। फिलहाल जिला प्रशासन पुरी सख्ती से लाकङाउन का पालन कराने में जुटी हुई है। जो भी इसके साथ खिलवाड़ करता नजर आ रहा है उसके साथ सख्ती बरती जा रही है। एसपी का कहना था कि जो लोग इसके बाद भी नही मान रहे हैं। उनके खिलाफ आईपीसी सहित अन्य धाराओं में केस पंजीकृत किया जा रहा है।

Related posts