भदोही। गोरखपुर की सीट भले सपा के टिकट पर जीती है लेकिन निषाध पार्टी ने इसके बाद अपने तेवर दिखाने शुरू कर दिये हैं। गुरूवार को निषाद पार्टी के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने आरक्षण में अनूसूचित जाति का दर्जा मिलने के बाद भी प्रमाण न जारी होने से अपनी मांग को लेकर रेल रोक दिया। ज्ञानपुर रोड रेलवे स्टेशन के केड़वरिया रेलवे क्रासिंग पर सभी मध्य ट्रैक सैकडों कार्यकर्ता रेल ट्रैक पर बैठ गए। जिसकी वजह से सुबह की पैसेंजर ट्रेन जहां रेलवे स्टेशन पर खड़ी रही, वही वाराणसी से आ रही मालगाडी को आउटर सिग्नल पर रोकना पड़ा। रेल रोकने की सूचना पर पहुँची पुलिस ने किसी तरह जाम खत्म कराया। लेकिन 20 मिनट तक ट्रैक जाम रहा। इस दौरान राष्ट्रपति को संबोधित मांग पत्र प्रभारी निरीक्षक को सौपा गया। उधर आरपीएफ की तरह से जीआरपी में जाम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है।

तहसील के मिल रहा है पिछले का प्रमाणपत्र

निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. संजय कुमार निषाद के निर्देश पर प्रदेश व्यापी धरना प्रदर्शन के क्रम मे गुरुवार को प्रदेश महासचिव मिठाई लाल केवट के नेतृत्व में सैकड़ों कार्यकर्ता झंडा लहराते हुए केड़वरिया रेलवे क्रासिंग पर ट्रैक पर बैठ गये। उनका आरोप था कि निषाद समुदाय के सभी जातियो को आरक्षण तो दे दिया गया है किंतु इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। आज भी तहसील से जो प्रमाण पत्र जारी हो रहा है वह पिछड़े वर्ग का प्रमाण पत्र दिया जा रहा है। जबकि अनुसूचित जाति प्रमाण पत्र मिलना चाहिए। कोर्ट के आदेश के बावजूद लोगों को पिछड़ी जाति प्रमाण पत्र देकर समुदाय के साथ अन्याय किया जा रहा है। पार्टी कार्यकर्ताओ ने कहा कि अगर अनुसूचित जाति का प्रमाण पत्र जारी नहीं किया गया बड़ा आंदोलन किया जाएगा। उधर लगभग 20 मिनट बाद ट्रेन आगे के लिए लिए रवाना हुई।

admin

No Comments

Leave a Comment