वाराणसी। सिगरा-फातमान मार्ग पर वोडाफोन द्वारा बिना अनुमति लिये सड़क पर खोदाई कर उसमें भूमिगत केबलिग किये जाने की जानकारी पर प्रदेश के विधि, न्याय, सूचना, खेल एवं युवा कल्याण राज्य मंत्री डा. नीलकंठ तिवारी का पारा चढ़ गया। बुधवार को सर्किट हाउस में अधिकारियों के साथ बैठक में राज्यमंत्री ने तल्ख तेवर अख्तियार करते हुए एफआईआर कराये जाने का निर्देश दिया। उन्होने आईपीडीएस को सड़को पर खोदाई कर कराये जा रहे भूमिगत वायरिंग कार्य को 3 दिन के अन्दर पूरा कराये जाने का निर्देश दिया। नई सड़क से चौक दालमण्डी मार्केट में आईपीडीएस द्वारा भूमिगत वायरिंग कार्य अब तक शुरू न कराये जाने पर उन्होने गहरी नाराजगी जताते हुए शीघ्र कार्य शुरू कराये जाने का निर्देश दिया। आईपीडीएस के अभियंता द्वारा दालमण्डी की सड़क पर अतिक्रमण के कारण पर्याप्त गहराई न मिलने के कारण भूमिगत वायरिंग कार्य में आने वाली समस्या के बाबत जानकारी दिये जाने पर उन्होने एसपीसिटी, सीओ दशाश्वमेध, सहित नगर निगम के अधिकारी एवं मजिस्ट्रेट की टीम गठित कर मौके से अतिक्रमण चिन्हिंत कर हटवाये जाने का डीएम को निर्देश देते हुए कहा कि अतिक्रमण हटने के फौरन बाद आईपीडीएस भूमिगत वायरिंग कार्य शुरू कराये।

गड्ढों के चलते हो रही दुर्घटनाओं पर जतायी चिंता

गलियो में आईपीडीएस द्वारा खोदाई कर भूमिगत वायरिंग के बाद मौके पर गड्ढे न भरने के कारण आये दिन हो रही दुर्घटनाओं पर चिन्ता व्यक्त करते हुए उन्होने कार्य खत्म होते ही गड्ढो को प्राथमिकता पर हर हालत में बंद करने का निर्देश दिया। गलियो एवं सड़को पर भूमिगत वायरिंग बाद जक्शन बाक्स लगाये जाने के बाद उसका खम्भो से नीचे गिरने तथा उसका पुन: मरम्मत कराने के बजाए आईपीडीएस एवं ईएसएसएल द्वारा एक-दूसरे पर मात्र जिम्मेदारी थोपने की जानकारी पर गहरी नाराजगी जताते हुए उन्होने पावर ग्रिड के एमडी को इस बाबत रिर्पोट तैयार कर भारत सरकार को भेजने के साथ स्वयं को भी उपलब्ध कराये जाने का निर्देश दिया। मौके से तारो के बण्डल एवं अवशेष न हटाये जाने की जानकारी पर उन्होने नगर आयुक्त को निर्देशित किया कि सड़को पर पड़े ऐसे तारो एवं बण्डलो को अभियान चलाकर हटवाया जाय।

वरूणा कॉरिडोर के संग मोटरसाइकिल पथ का होगा सर्वे

वरूणा कॉरिडोर कार्य की समीक्षा के दौरान के दौरान उन्होने युद्वस्तर पर अभियान चलाकिर 31 मार्च तक इस कार्य को पूरा कराये जाने का निर्देश देते हुए वरूणा कॉरिडोर का विस्तार रामेश्वर तक किये जाने तथा वरूणा कॉरिडोर के किनारे-किनारे मोटर साइकिल पथ बनाये जाने हेतु स्थलीय सर्वे कर कार्ययोजना बनाये जाने हेतु सिचाई विभाग के अभियंता को निर्देशित किया। पेयजल योजनाओं की समीक्षा के दौरान सीस वरूणा क्षेत्र में बिछाये गये पाइप लाइनों में गैप के कारण पेयजलापूर्ति सुनिश्चित न हो पाने तथा जलनिगम द्वारा पानी छोड़-छोड़ कर गैप का पता लगाकर उसे ठीक कराये जाने के सुझाव को सीरे से खारिज करते हुए मंत्री ने लिडार अथवा जीपीएस सिस्टम से गैप को ढूढने हेतु सर्वे कराये जाने का निर्देश दिया। बैठक में विधायक कैंट सौरभ श्रीवास्तव, विधायक उत्तरी रवीन्द्र जायसवाल, डीएम योगेश्वर राम मिश्र, नगर आयुक्त डा.नितिन बंसल सहित लोनिवि, आईपीडीएस, जलनिगम, जलसंस्थान, सेतु निगम आदि सभी कार्यदायी संस्था के अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

admin

No Comments

Leave a Comment