वाराणसी। माफिया से माननीय बने एमएलसी बृजेश सिंह को बड़ी राहत मिली है। जिला जज ने बहुचर्चित सिकरौरा कांड में वादिनी हीरावती की तरफ से दाखिल की गयी ट्रांसफर अप्लीकेशन को सोमवार को खरिज कर दिया है। बचाव पक्ष के मुताबिक, कोर्ट का कहना है कि इससे पहले भी कई न्यायाधीश के खिलाफ आरोप लगाते हुए प्रार्थनापत्र दिया जा चुका है। ऐसे में इसका कोई आधार नहीं है लिहाजा प्रार्थनापत्र खारिज किया जाता है। इसके साथ ही पत्रावली को संबंधित जज विशेष न्यायाधीश (गैंगस्टर एक्ट) राजीव कमल पाण्डेय की अदालत भेज दिया गया है।

गवाही को लेकर कोर्ट थी सख्त

गौरतलब है कि हीरावती की तरफ से ट्रांसफर अप्लीकेशन उस समय दिया गया था जब मामले की सुनवाई कर रही अदालत गवाही को लेकर सख्त हो गयी थी। कोर्ट ने पिछली तिथि पर हीरावती को अंतिम अवसर देने के साथ दूसरे गवाहों को तलब करने का आदेश भी दिया था। अगली तिथि पर सुनवाई से पहले ट्रांसफर अप्लीकेशन पर निगाहें टिकी थी लेकिन उसे खारिज होने के बाद गवाही को छोड़ कोई रास्ता नहीं बचा है। संभावना जतायी जा रही है कि इस आदेश को हाईकोर्ट में चुनौती दी जा सकती है।

admin

No Comments

Leave a Comment