वाराणसी। कैंट क्षेत्र में स्थित एक तारांकित होटल में हुए निजी एयरलाइंसकर्मी महिला के साथ गैंगरेप के मामले में नया मोड आ गया है। सीजेएम जनार्दन प्रसाद यादव ने होटल के सीसीटीवी फूटेज को पुलिस को सुरक्षित रखने का आदेश दिया है। अदालत ने यह आदेश जेल में निरुद्ध आरोपित आबेदीन मोहिउद्दीन के अधिवक्ता मनीन्द्र नाथ तिवारी की ओर से प्रस्तुत प्रार्थना पत्र पर सुनवाई के बाद दिया।

दोपहर से रात तक पीड़िता साथ थी

आरोपी के अधिवक्ता की ओर से दलील दी गई कि घटना के दिन 27 मार्च को पीड़िता होटल में दोपहर एक बजे से रात्रि 11 बजे तक मौजूद रहीं। इस दौरान पीड़िता और आरोपियों की सभी गतिविधियां होटल में लगे सीसीटीवी कैमरों में अंकित है। पुलिस उक्त तिथि की होटल में पूरी गतिविधियों को विवेचना का हिस्सा नहीं बना रहीं है। अलबत्ता पुलिस इसे अलग-अलग हिस्सों में ले रही है और सीसीटीवी फुटेज से छेड़छाड़ कर रही है। मुकदमे की सही विवेचना और अदालत में ट्रायल के लिए पीड़िता और आरोपियों का होटल में सभी गतिविधियों का अवलोकन न्याय हित में आवश्यक है। ऐसे में घटना के दिन होटल में पीड़िता और आरोपियों की मौजूदगी का सीसीटीवी फुटेज को सुरक्षित रखने का विवेचक को आदेश दिया जाए। अधिवक्ता ने अपने दलील के समर्थन में हाईकोर्ट का नजीर भी प्रस्तुत किया। अधिवक्ता की दलील तथा पत्रावलियों के अवलोकन के पश्चात घटना के दिन का होटल के सीसीटीवी फुटेज को सुरक्षित रखने का विवेचक को आदेश दिया।

admin

No Comments

Leave a Comment