कभी राजनेता तो कभी पर्यावरण प्रेमी की तरह दिखे मोदी

वाराणसी। दूसरी बार प्रधानमंत्री चुने जाने के बाद नरेंद्र मोदी पहली बार पहुंचे तो अंदाज बिल्कुल बदल हुआ था। मोदी ने एक सधे हुए राजनेता की तरह कार्यकर्ताओं को सदस्यता अभियान के बारे में समझाया तो इस समाजसेवी और पर्यावरणप्रेमी की तरह पौधरोपण के महत्व बताए। मोदी के भाषण में बजट की बातें थी तो काशी के विकास की रुपरेखा भी थी। कुल मिलाकर मोदी ने अपने पहले दौरे में ये बता दिया कि वो अगले पांच सालों में क्या करने जा रहे हैं। क्या होगा उनका एजेंडा। 
कविता के साथ शुरु किया भाषण
जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज काशी में देशव्यापी अभियान का शुभारंभ किए। हस्तकला संकुल में सदस्यता अभियान शुरू करने के बाद मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत कविता के जरिये की। पीएम मोदी ने बजट पर चर्चा करते हुए कहा कि बजट के बाद टीवी पर और आज अखबारों में एक बात पढ़ी सुनी और देखी होगी- वो है 5 ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था। इस फाइव ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी के लक्ष्य का मतलब क्या है? एक आम भारतीय की जिंदगी का इससे क्या लेना-देना है, ये आपके लिए, सबके लिए जानना बहुत जरूरी है। क्योंकि कुछ लोग हैं जो हम भारतीयों के सामर्थ्य पर शक कर रहे हैं, वो कह रहे हैं कि भारत के लिए ये लक्ष्य प्राप्त करना बहुत मुश्किल है। बात होगी हौंसले की, नई संभावनाओं की, विकास के यज्ञ की, मां भारती के सेवा की और न्यू इंडिया के सपने की। ये सपने बहुत हद तक फाइव ट्रिलियन इकॉनमी के लक्ष्य से जुड़े हुए हैं
हरहुआ में लगाए 21 पौधे
वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के परिवार से अनिल शास्त्री, सुनील शास्त्री और सिद्धार्थ नाथ सिंह भी मौजूद रहे। पीएम मोदी सुबह 10.30 बजे बाबतपुर एयरपोर्ट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारतीय वायुसेना के विमान से पहुंचे। इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की प्रतिमा का अनावरण किया। साथ ही लाल बहादुर शास्त्री के परिवार के साथ ग्रुप फोटो भी खिंचवाई।  इसके बाद पीएम मोदी हरहुआ स्थित प्राथमिक विद्यालय पहुंचे। वहां पर आनंद कानन की नवग्रह वाटिका में पौधरोपण अभियान की शुरुआत की। पीएम मोदी ने विधि विधान के साथ पौधरोपण किया। पीएम मोदी ने पांच बच्चों और पांच पर्यावरणविद् के साथ मिल कर कुल 21 पौधे लगाए। पीएम मोदी के हरहुआ से निकलते ही बारिश शुरू हो गई।

Related posts