भदोही। रेलवे प्लेटफार्म से लेकर ट्रेन के डिब्बों में चेतावनी लिखवाता है कि अनजान से जान-पहचान न करे। यह आपको नशीला पदार्थ देकर पास मौजूद सामान उड़ा सकता है। लंबे समय से जहरखुरान ऐसे करते आ रहे हैं लेकिन इलाहाबाद से वाराणसी आने वाली ट्रेन में ऐसा कुछ हुआ जिससे लोगों के होश फाख्ता हो गये। ट्रेन में सफर के दौरान जान-पहचान करने वाली महिला ने प्रेमा देवी नामक युवती के तीन महीने के बेटे को पार कर दिया। ज्ञानपुर रोड स्टेशन पर रविवार को इकलौते बेटे के गायब होने का ब्योरा देते हुए से एक महिला रो-रोकर बेहाल हो गई। सूचना मिलने पर पहुंची जीआरपी ने पीड़ित से घटनाक्रम की जानकारी ली और साथ लेकर इलाहाबाद निकल गई।
बेटे को लेकर मायके जा रही थी पीड़िता
दारागंज (इलाहाबाद) के रहने वाले राजू निषाद की पत्नी प्रेमा देवी अपने तीन माह के बेटे के साथ मायके गुलौरी जाने के लिए निकली थी। ट्रेन में सफर के दौरान एक दूसरी महिला ने प्रेमा से जान पहचान बढ़ायी और उसके बच्चे को गोद में लेकर खिलाने लगी। इस बीच कुछ देर के लिए प्रेमा देवी को झपकी आ गई। मौका मिलते ही अजनबी महिला भीटी स्टेशन पर बच्चे को लेकर उतर गई। प्रेमा ने नींद खुलने पर बच्चे को गायब देखा तो बौखला गयी। बोगी में काफी देर तक तलाशी की लेकिन उक्त महिला और उसका बच्चा नहीं मिला। ज्ञानपुर रोड रेलवे स्टेशन पर उतरने के बाद महिला लोगों से रो-रोकर अपनी पीड़ा बतायी।
इकलौते सुराग बैग की जांच
प्रेमा देवी के मायकेवाले इलाहाबाद जीआरपी को घटना के बाबत तहरीर देने के साथ एक बैग सौंपे है। माना जा रहा है कि बच्चे को लेकर भागने वाली महिला ने अपना बैग ट्रेन में ही छोड़ दिया था। इस बैग में अल्ट्रासाउंड, एक डाक्टर के परामर्श पर दवा की पर्ची भी मौजूद थी। जीआरपी मामले की जांच कर रही है।

admin

No Comments

Leave a Comment