साली की हत्याकर सेफ्टीटैंक में डाल दी थी लाश, मिला कंकाल तो इस तरह हुई कत्ल की गुत्थी साल्व

वाराणसी। विवाह के डेढ़ दशक बाद साली के साथ नाजायज रिश्ता तो बहनोई ने बना लिया लेकिन इसे जारी रखना संभव नहीं था। साली के संग दूसरा विवाह रचाने की भनक किसी को नहीं थी लेकिन अचानक रहस्यमय ढंग से लापता होने के बाद पुलिस से गुहार लगाने पर चौंकाने वाली जानकारियां सामने आयी। बड़ागांव पुलिस ने साली की हत्या कर शव को छिपाने वाले विनोद गोड़ और उसके भाई चंदन को गिरफ्तार किया तो घर के सेफ्टी टैंक से मृतका की साडी व कंकाल बरामद हुए। एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने घटना का सफल अनावरण करने वाली बड़ागांव पुलिस टीम को 25 हजार रुपये नकददे कर पुरस्कृत किया है।

साली को फंसा लिया था जाल में

बड़ागांव थाने पर विनोद कुमार गोड़ निवासी श्रीकण्ठपुर (चौबेपुर) ने तहरीर दी थी। आरोप था कि 2005 में मेरी बड़ी पुत्री गायत्री की शादी विनोद यहां हुई थी। मेरी छोटी पुत्री राजनन्दनी उर्फ अंतिमा को बहनोई अपने जाल में फांस कर अपने पास रखने लगा। मेरा पुत्र सोनू राखी बधवाने अपने बहन के घर गया था बड़ी बहन गायत्री मिली पर छोटी बहन राजनन्दनी उर्फ अंतिमा का पता नही चला। हमको शक है कि विनोद उसके पिता शोभकांत, माता नगीना देवी, भाई सुनील कुमार, चन्दन व उसके दोस्त नाम पता अज्ञात मेरी बहन राजनन्दनी की हत्या कर लाश को कही छुपा दिये है। विवेचना के दौरान मामले में वांछित अभियुक्त विनोद व चन्दन को काजीसराय से गिरफ्तार कर अभियुक्तगण कि निशानदेही पर आवास के सेफ्टी टैंक से मृतका की साड़ी व कंकाल बरामद कर आवश्यक विधिक कार्यवाही की जा रही है। पूछ-ताछ के दौरान विनोद ने कबूल किया कि अगस्त 2018 में  राजनंदनी की हत्या कर सेफ्टी टैंकमें छुपा दिया था जिसको आप लोगो ने बरामद कर लिया है। 

Related posts