मऊ। चुनावी समर में मऊ सदर सीट से ताल ठोक रहे बाहुबली मुख्तार अंसारी की राह आसान हो सकती है। मुख्तार के खिलाफ चक्रव्यूह तैयार रहे बीजेपी-भासपा गठबंधन में सबसे बड़ी फूट गई है। मुकाबले से पहले ये गठबंधन बिखरने लगे है। दरअसल बीजेपी नेता अशोक सिंह ने भी मुख्तार अंसारी के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरने का ऐलान कर दिया है। अशोक सिंह ने मंगलवार को नामांकन किया।

ashok singh

बीजेपी-भासपा गठबंधन में पड़ी फूट

बीएसपी कैंडिडेट मुख्तार अंसारी को घेरने के लिए बीजेपी-भासपा गठबंधन ने बड़ा प्लान तैयार किया था। समझौते के तहत बीजेपी ने राजभर बहुल इस सीट को अपनी सहयोगी भासपा के खाते में डाल दी। भासपा की ओर से इस सीट से महेंद्र राजभर ताल ठोक रहे हैं। इसी बीच टिकट बंटवारे से नाराज बीजेपी के कद्दावर नेता और मुख्तार के धुर विरोध अशोक सिंह भी मैदान में उतर आए। खबरों के मुताबिक अशोक सिंह ने बीजेपी प्रत्याशी के तौर पर पर्चा भरा है। माना जा रहा है कि भासपा प्रत्याशी को टिकट दिए जाने से अशोक सिंह नाराज चल रहे थे। उन्हें बीजेपी के एक बड़े वर्ग का समर्थन भी हासिल है।

बंट सकता है बीजेपी का वोटबैंक

सियासी पंडितों की माने तो अशोक सिंह के चुनावी मैदान में आने का सीधा फायदा मुख्तार अंसारी को मिलेगा। अगर दोनों पार्टियां अलग-अलग चुनाव लड़ती हैं तो मुख्तार को घेरना आसान नहीं होगा। खासतौर से सवर्णों और राजभर के बीच वोट का बंटवारा हो जाएगा। और इसका सीधा फायदा मुख्तार को मिलेगा। मुख्तार के साथ बीएसपी के परंपरागत वोटबैंक के अलावा मुस्लिमों का साथ है। ऐसे में अगर विरोधी पार्टियां बिखरती हैं तो चुनावी समर में मुख्तार की राह आसान हो जाएगी। माना जा रहा है कि गठबंधन में फूट के बाद मुख्य मुकाबला बीएसपी और सपा-कांग्रेस गठबंधन के बीच होगा।

मैदान में आए मनोज राय

वहीं दूसरी ओर इस सीट से बीएसपी के पूर्व प्रत्याशी मनोज राय भी चुनावी मैदान में उतर आए हैं। मंगलवार को मनोज राय ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर पर्चा दाखिल किया। माना जा रहा था कि बीएसपी से टिकट कटने के बाद मनोज राय शायद ही चुनाव मैदान में आए लेकिन आखिरी वक्त में उन्होंने पलटी मार दी और मैदान में आ गए। मनोज पिछले कुछ सालों से लगातार चुनाव की तैयारियों में लगे थे। हालांकि मायावती ने उनकी जगह पर मुख्तार को तरजीह दी। मनोज राय के चुनावी मैदान में आने से भूमिहार उनके साथ गोलबंद हो सकते हैं। इसका सीधा फायदा मुख्तार को होना तय है।

admin

No Comments

Leave a Comment