चंदौली। नौगढ़ विकास खण्ड के ब्लाक प्रमुख पद पर ढाई माह पहले पहले हुए मतदान में करारी मात मिलने के बावजूद भाजपा सांसद छोटेलाल खरवार पीछे हटने को तैयार नहीं हैं। अविश्वास प्रस्ताव पर 12 अक्टूबर को वोटिंग के दौरान राबर्ट्सगंज के भाजपा सांसद छोटेलाल खरवार व उनके भाई ब्लाक प्रमुख जवाहिर खरवार के साथ कथित दुव्‍र्यवहार के आरोप की हवा वीडियो रिकार्डिंग से निकल गयी थी। शासन स्तर पर अधिकारियों के संग गाली-गलौज की भाषा पर सांसद को चेताया गया था। इसके बाद उन्होंने राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग नई दिल्ली का दरवाजा खटखटाया है। सांसद ने आयोग से डीएम-एसपी और अविश्वास प्रस्ताव लाने वाले सदस्यों को आरोपित बताते हुए उनके विरुद्घ कार्रवाई की मांग की है। आयोग ने सुनवाई के लिए 23 जनवरी 2018 को डीएम और एसपी को तलब किया है।

सभी आरोपों का जबाव है सीडी में

हाईप्रोफाइल मामला भांप कर पुलिस-प्रशासन ने पहले से जो एहतियात बरते थे अंतत: वही काम आ रहे हैं। दरअसल वहां पर सीसी कैमरों का जाल बिछा कर पूरे घटनाक्रम की रिकार्डिंग करायी गयी थी। इसमें आरोप लगाने वाले सांसद खुद बदसलूकी करते दिख रहे हैं। बावजूद इसके सांस का कहना है कि 12 अक्टूबर को ब्लाक प्रमुख पद पर आए अविश्वास के बाद मतदान के दिन चंदौली पुलिस-प्रशासन और पूर्व ब्लाक प्रमुखपति व उनके सहयोगियों की ओर से बदसलूकी की गई। सीएम से लेकर शासन में बैठे आला अफसरों से शिकायत की गयी लेकिन कार्रवाई न होते देख विवश होकर राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग नई दिल्ली का दरवाजा खटखटाना पड़ा।

admin

No Comments

Leave a Comment