चंदौली। बिहार में शराबबंदी के बाद तस्करों की पौ बारह है। पहले से कीमत बढ़ गयी है और इन दिनों चल रहे शादियों के सीजन में शराब की मांग बढ़ती जा रही है। सीमावर्ती जनपद होने के नाते चंदौली शराब की सप्लाई बिहार करते हुए कई बार पुलिस ने खुलासे किये हैं। ताजा मामला कुछ अनूठा है। मूल रूप से भदोही के रहने वाले राजन सिंह ने मध्य प्रदेश से शराब मंगाकर बिहार सप्लाई करने की खातिर चंदौली को सेंटर बना रखा था। मुगलसराय पुलिस ने एक राइस मिल से 407 पेटी अवैध शराब बरामद की पुलिस ने तीन चार पहिया वाहनों के दो मोटरसाइकिल भी बरामद की है। छापेमारी में तीन तस्कर गिरफ्तार हुए हैं जिनसे पूछताछ में चौंकाने वाले खुलासे हुए। बरामद शराब की कीमत पुलिस ने 13 लाख रुपये बतायी है।

बंद राइस मिल में बना रखा था गोदाम

एसपी संतोष कुमार सिंह के मुताबिक मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर इंस्पेक्टर शिवानंद मिश्र ने भुपौली रोड पर वाहन चेकिंग में एक जायलो व क्वांटो गाड़ी से 150 शीशी शराब बरामद की है। पकड़े गए तस्कर आलोक सिंह व आकाश सिंह की निशानदेही पर टुनटुन सिंह की बंद पड़ी राइस मिल से मध्य प्रदेश से मंगाई गई जोकि बिहार को सप्लाई होनी थी भारी मात्रा में शराब बरामद किया। इस दौरान पुलिस ने शुभम पाल को गिरफ्तार किया मौके पर से शराब लदी बोलेरो कार भी बरामद की। राइस मिल में खड़ी दो मोटरसाइकिल जिनके कागजात नहीं मिले उनको पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है। गिरफ्तार गुर्गों ने कबूल किया कि वह सप्लाई तक सीमित हैं जिसके लिए राजन मोटी रकम देता है।

admin

No Comments

Leave a Comment