बलिया। कोथ (सिकन्दरपुर) गांव में संदिग्ध हालात में विवाहिता अपने दो मासूम संतानों के संग संदिग्ध हालात में गंभीर रुप से झुलस गयी। मंगलवार की देर रात हुई वारदात के बाद सभी को अस्पताल भेजा गया। जिला अस्पताल में दो को मृत घोषित किया गया जबकि एक प्राण पखेरू पहले ही उड़ चुके थे। पुलिस ने तीनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतका के पिता नूर मोहम्मद शाह निवासी राजापुरकलां कासिमाबाद (गाजीपुर) ने सिकन्दरपुर पुलिस को तहरीर देकर मृतका के सास, ससुर व पति पर दहेज का आरोप लगाया है कि ये लोग अक्सर गाड़ी, सोने की चेन, रुपये आदि के लिए बार-बार मृतका को प्रताड़ित करते थे। तहरीर के आधार पर मुकदमा कायम कर पुलिस मामले की विवेचना कर रही है।

छह साल पहले हुआ था निकाह

कमरून खातून का निकाह 4 दिसंम्बर 2012 को कोथ गांव निवासी सलामत शाह के साथ मुस्लिम रीति रिवाज के साथ हुई थी। गांव के लोगो की माने तो मृतका का पति घर पर ही रहता था। पति पत्नी में बराबर झगड़ा होता रहता था। मंगलवार की देर रात कमरून निशा (29) अपने दो बच्चों जेनिश (4) और शमीम (2) के साथ संदिग्ध परिस्थितियों बुरी तरह से जल गई। परिजन उसे आनन-फानन में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सिकन्दरपुर लेकर पहुंचे जहां जेनीश को चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। वहीं चिकित्सक ने कमरून निशा तथा शमीम को हालत गम्भीर होने पर जिला अस्पताल रेफर कर दिया, इलाज के दौरान दोनों की मौत हो गई। बुधवार की सुबह मौके पर पहुंचे सीओ सिकन्दरपुर विजय प्रताप यादव व एसओ राम सिंह ने जेनिश के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। आरोप है कि मृतका के सास, ससुर व पति अक्सर गाड़ी, सोने की चेन, रुपये आदि के लिए बार-बार प्रताड़ित करते थे।

admin

Comments are closed.