बंदरों की ‘बदमाश कंपनी’ से बनारसियों को मिलेगी राहत, मथुरा से पहुंचे एक्सपर्ट

वाराणसी। बंदरों के उत्पात से बनारस के लोग बेहाल हैं। शहर का शायद की कोई ना हो जहां बंदरों की बदमाश कंपनी दिनरात धमाचौकड़ी मचाते नॉए दिखती हो। बंदरों पर लगाम लगाने के लिए नगर निगम की टीम अब विशेषज्ञयों की मदद लेने जा रही है।नगर निगम ने मथुरा के चार एक्सपर्ट के साथ समझौता किया है। 
पकड़ेंगे 5 हजार बंदर
करार के मुताबिक पूरे नगर में लगभग 5 हजार बंदरों को पकड़ने का लक्ष्य रखा गया है। इसके अनुसार एक बंदर को पकड़ने के लिए एक्सपर्ट की टीम को 3 सौ रुपये दिए जाएंगे। अपर नगर आयुक्त सुमित कुमार ने बताया कि इससे पहले सात साल पहले बंदरों को पकड़ने के लिए अभियान चलाया गया था। दरअसल बनारस में बंदरों के आतंक लगातार बढ़ता जा रहा है। आये कोई न कोई घायल होता है। 
इन इलाकों में बंदरों का आतंक

पिछले कई सालों में शहरी क्षेत्रों में बंदरों का आतंक बढ़ा है।दुर्गाकुंड, संकट मोचन मंदिर, बीएचयू, शिवाला, राजघाट, सोनारपुरा, अस्सी, भदैनी, पहाड़िया जैसे रिहाइशी इलाकों में लोग बंदरों के उत्पात से त्रस्त हैं। सिर्फ लोग ही नहीं श्रद्धालु भी बंदरों के कहर से बच नहीं पाते। इन बंदरों से निपटने के लिए नगर निगम की टीम ने एड़ी चोटी का जोर लगा दिया, लेकिन कामयाबी नहीं मिली। अब जबकि मथुरा से विशेषज्ञों की टीम शहर में पहुंच गई है, लोगों में उम्मीद जगी है।

Related posts