वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के न्यू इंडिया विजन को यूथ का काफी सपोर्ट मिल रहा है। यूपी समेत पांच राज्यों में हुए चुनाव में यूपी और उत्तराखंड में मोदी लहर जमकर चली। वैसे तो इस लहर में मोदी के कई फैक्टर काम के साबित हुए, लेकिन न्यू इंडिया को लेकर मोदी के विजन को आत्मसात करने वाला यूथ इस इलेक्शन में विकास और बेरोजगारी दूर करने के मुद्दे पर मोदी के साथ खड़ा दिखा। न्यू इंडिया में मिलने वाली जबरदस्त अपॉर्च्युनिटी को लेकर यूथ मोदी पर पूरा भरोसा जता रहा है। मोदी का न्यू इंडिया विजन भी देश की उस 65 फीसदी आबादी को केंद्रीत करता है, जो 35 साल से कम की उम्र के हैं और जो नए भारत के उदय का एक नया संवाहक बन सकता है।

देखा जाए तो नरेंद्र मोदी का यह ड्रीम प्रोजेक्ट अभी धरातल पर पूरी तरह उतरा नहीं है, जबकि उसकी तुलना में यूपी में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लैपटॉप और साइकिल वितरण की योजना चलाई। इससे सूबे के हजारों-लाखों यूथों को फायदा पहुंचा, लेकिन चुनाव में पार्टी को इसका लाभ नहीं मिल सका। जानकार मानते हैं कि अखिलेश सरकार अपनी इस महत्वाकांक्षी योजना का उद्देश्य यूथ में साफ करने में विफल रही, जिसका खामियाजा उसे चुनाव में भुगतना पड़ा। आमतौर पर इसे लोगों ने सरकार की एक खैराती योजना से ज्यादा तवज्जो नहीं दी। इसके विपरीत पीएम और उनकी पार्टी यूपी सरकार की नाकामियों को मुद्दा बनाते हुए यूथ और महिलाओं तक अपना संदेश पहुंचाने में काफी हद तक सफल रहे। इतना ही नहीं, मोदी के विजन को साकार रूप देने के लिए पार्टी स्तर पर चुनाव से पहले और उसके दौरान युवा और महिला सम्मेलन कर उन्हें पार्टी से जोड़ने का काम किया गया। 88 युवा सम्मेलनों से 4 लाख 65 हजार युवा जुड़े, जिनमें युवाओं को राजनीति के जरिए कैसे परिवर्तन हो, इस बारे में समझाया गया। वहीं, 77 महिला सम्मेलनों को उड़ान का नाम दिया गया। इसमें 2 लाख 60 हजार 600 महिलाओं को राजनीतिक रूप से जोड़ा गया।

पीएम यूथ को नए भारत का भविष्य बताते हैं। यूपी में भारी जीत के दूसरे दिन दिल्ली में रोड शो करने के बाद मोदी ने पार्टी कार्यालय में देशभर से पहुंचे पार्टीजनों और समर्थकों को संबोधित किया था। इसमें मोदी ने यूथ का जिक्र करते हुए कहा था कि भारत की 65 फीसद आबादी, जो 35 साल से कम उम्र वालों की है, उनको बेहतर बनाना है और यही न्यू इंडिया विजन के सूत्रधार होंगे। यूथ को भी मोदी में न्यू इंडिया के निर्माण की जिजिविषा दिख रही है और वह अपने सुखद कल के लिए मोदी के पीछे चलने को तैयार है।

admin

No Comments

Leave a Comment