मंत्रिमंडल विस्तार में मोदी की काशी का लहराया ‘परचम’, समर्थक ललकारते फिर रहे हमारे नेता नहीं हैैं ‘कम’

वाराणसी। सूबे में सरकार गठित होने के लगभग ढाई साल बाद होने वाले मंत्रिमंडल विस्तार में पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र काशी की धूम रही। यहां पहले से दो मंत्री थे और अब रवीन्द्र जायसवाल को भी मौका मिल गया। कुल आठ सीटों में छह तो भाजपा को मिली है जबकि एक पर अपना दल के और एक पर सुभासपा ने सयोगी के रूप में जीती थी। खास यह कि यहां से अनिल राजभर को प्रमोशन के साथ कैबिनेट का दर्जा दे दिया गया जबकि पहले से राज्यमंत्री रहे डा. नीलकंठ तिवारी को स्वतंत्र प्रभार मिला है। दूसरी बार के विधायक रवीन्द्र जायसवाल को भी स्वतंंत्र प्रभार वाला राज्यमंत्री बनाया गया है। मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण भले बुधवार दोपहर 11 बजे हुआ हो लेकिन सुबह से उन्हें बधाइयां देने वालों का तांता लगा था।

विभागों को लेकर लग रहे हैं कयास

मंत्रिमंडल विस्तार के बाद अब निगाहे इस पर टिकी हैं कि किसको कौन विभाग मिलने वाला है। दरअसल नौ बार के विधायक रहे श्यामदेव राय चौधरी के बदले टिकट पाने वाले डा. नीलकंंठ तिवारी सीधे राज्यमंत्री बने थे। अब तक वह विधि न्याय, युवा कल्याण, खेल एवं सूचना राज्यमंत्री थे लेकिन स्वतंंत्र प्रभार मिलने के बाद इसमें कटौती के आसार हैं। उधर अनिल राजभर को भी सैनिक कल्याण, खाद्य, होमगार्ड, नागरिक सुरक्षा, प्रांतीय रक्षक दल जैसे ‘झुनझुनेवाले’ विभाग मिले थे। लोकसभा चुुनावों के बाद भाजपा ने ओमप्रकाश राजभर का पत्ता काटने के साथ बिरादरी के अनिल राजभर को प्रमोट करते हुए उनके विभाग भी सौंप दिये। माना जा रहा है कि विस्तार में उनका ध्यान रखा जायेगा। रही बात रवीन्द्र जायसवाल की तो मंत्री बनने को ‘नागपुर’ का आशीर्वाद बताया जा रहा है लेकिन यह कितना सही है विभाग आवंटन के बाद स्पष्ट होगा।

Related posts