भदोही। भाजपा की प्रचंड लहर के बाहजूद पूर्वांचल नहीं पूरे प्रदेश में निषाद पार्टी जैसे दल से चुनाव जीतने वाले ज्ञानपुर के विधायक विजय मिश्र ने गुप्त नवरात्र पर एक बार फिर से शहस्त्रचण्डी महायज्ञ का आयोजन किया है। विजय मिश्र की पहचान बाहुबली की रही है लेकिन उनके महायज्ञ को लेकर कम चर्चाएं नहीं रहती है। कहा जाता है कि अपने विरोधियों को परास्त करने के लिए वह आयोजन कराते हैं। बावजूद इसके विजय मिश्र का कहना रहता है कि वह जनकल्याण की खातिर इसका आयोजन करते हैं। इसमें लाखों अहुतियां पड़ती हैं।

108 विद्वान आचार्य करा रहे महायज्ञ

धनापुर स्थित विधायक निवास 18 जनवरी से चल रहे सहष्ट्रचण्डी हवनात्मक महायज्ञ में विधायक विजय मिश्र ने एमएलसी पत्नी रामलली मिश्र के संग विधि विधान से पूजन कार्य संपन्न किया। काशी और प्रयाग से पधारे 108 विद्वत आचार्यों द्वारा पूजन हवन का कराया जा रहा है। यज्ञाचार्य ने बताया की जनकल्याण के लिए कराये जा रहे इस यज्ञ मंडप के दर्शन मात्र से आप पूण्य के भागी होंगे। उन्होंने दावा किया कि वैदिक मंत्रोच्चार से पूरे क्षेत्र का कल्याण होगा तथा सभी प्रकार के कष्टों व आपदाओं का विनाश हो जायेगा। यज्ञोंपरांत भंडारे में पधारे भक्तों का सेवा भाव करने व प्रसाद ग्रहण करने से जीवन में सुख समृद्धि शांति की प्राप्ति होती है।

admin

No Comments

Leave a Comment