वाराणसी। मऊ सदर के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के पीजीआई में भर्ती होने को लेकर एक तरफ तो उनके समर्थक और परिजन हलकान हैं तो दूसरी तरफ कट्टर विरोधी मानी जाने वाली मोहम्मदाबाद की विधायक अलका राय ने अनूठी मांग रखी है। उनका कहना है कि बेहतर इलाज के लिए एम्स से अच्छी कोई जगह हो नहीं सकती। मुख्तार को तिहाड़ भेज दिया जाये और वहां से इलाज आराम से हो सकता है। लखनऊ को छोड़ दूसरी जेलों को लेकर उन्हें समस्या रहती है। दिल्ली में रहने पर वह कोर्ट में पेशी पर भी पहुंच सकेंगे जो कि लंबे समय से नहीं हो पा रहा है। इसके लिए वह शासन से अनुरोध करेंगी साथ ही कोर्ट में भी गुहार लगायी जायेगी।

अहम मोड पर कृष्णानंद राय हत्याकांड

गौरतलब है अलका राय के पति और मोहम्मदाबाद के विधायक रहे कृष्णानंद राय समेत सात लोगों की हत्या के मामले में पिछले 12 सालों से अधिक समय से मुख्तार जेल की सलाखों के पीछे हैं। अलका के प्रार्थनापत्र पर इस मामले की सुनवाई प्रदेश के बाद दिल्ली की सीबीआई कोर्ट में हो रही है। मामले में अभियोजन की तरफ से साक्ष्य पूरे हो चुके हैं। आरोपितों के बयान की प्रक्रिया आरम्भ होनी है। परोक्ष रूप से अलका का इशारा इसी तरफ था जिसमें कई तारिख पर मुख्तार और मुन्ना बजरंगी नहीं गये हैं। खास यह कि एक सप्ताह बाद इस मामले में सुनवाई होनी है।

तेज हुआ आरोप-प्रत्यारोप का दौर

प्रकरण भले हार्ट अटैक की शिकायत का हो लेकिन इसे लेकर आरोप-प्रत्यारोप शुरू हो चुके है। मुख्तार की जांच मेडिकल बोर्ड नहीं बल्कि पूरे पैनल से करायी गयी। परिजनो का कहना है कि इलाज को ध्यान में रखते हुए पीजीआई में रखा जाये लेकिन सरकार की मंशा ठीक नहीं लग रही है।

admin

No Comments

Leave a Comment