मंत्री नीलकंठ ने दिया सुझाव तो कप्तान ने फोर्स को सड़क पर दिया उतार, चौराहों पर पुलिस को देख सरकने लगे संदिग्ध

वाराणसी। अंधेरा होने के साथ सड़को पर चक्रमण करने शोहदों से लेकर लक्जरी वाहनों में चलने वाले संदिग्ध मंगलवार को शहर के प्रमुख चौराहों को पार करने से कतरा रहे थे। दरअसल हर प्रमुख चौराहों पर भारी संख्या में दरोगा-सिपाही ही नहीं बल्कि थाने के प्रभारी बावर्दी दिख रहे थे। इन लोगों ने चेकिंग भी नहीं की लेकिन खाकी इकबाल कुछ यूं सर पर चढ़ कर बोलने लगा कि सभी राइट टाइम दिखे। दकअसल प्रदेश के पर्यटन, संस्कृति, धर्मार्थ कार्य राज्यमंत्री(स्वतंत्र प्रभार) डा. नीलकंठ तिवारी मंगलवार को कमिश्नरी सभागार में डीएम-एसएसपी संग जनपद के कानून व्यवस्था की समीक्षा में इसके सुझाव दिये थे। उन्होंने एसएसपी को निर्देशित किया कि भारी संख्या में सुरक्षाबलों को लेकर सड़कों पर फूट पेट्रोलिंग करायें। शहर के व्यस्ततम एवं प्रमुख चौराहों/ तिराहों पर उपलब्ध पीएससी एवं अर्धसैनिक बलों की तैनाती किया जाए। उन्होंने अवांछनीय एवं अपराधियों पर नकेल कसे जाने पर विशेष जोर देते हुए निर्देशित किया कि अपराधियों को उनके सही ठिकाने जेल के शिकंजे में भेजा जाए। अपराधियों पर नकेल कसने में किसी भी प्रकार की कोताही न बरती जाए। आम जनमानस पुलिस का व्यवहार सद्भाव पूर्ण होना चाहिए।

गंगा घाटों पर पुलिस गश्त बढ़ाने पर जोर

राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) ने गंगा घाटों पर पुलिस गश्त बढ़ाई जाने का निर्देश देते हुए नशेड़ियो एवं अवांछनीय तत्वों पर कड़ी नजर रखने पर जोर दिया। उन्होंने देव दीपावली एवं गंगा महोत्सव के साथ-साथ इसी माह अयोध्या राम मंदिर के संबंध में आने वाले सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के क्रम में जनपद सांप्रदायिक सद्भाव कायम रखने के साथ-साथ कानून व्यवस्था मजबूत बनाए रखने पर विशेष जोर दिया। देव दीपावली पर्व पर गंगा घाट के सभी मणियों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम कराए जाने हेतु संस्कृति विभाग के अधिकारी को निर्देशित किया।

धन की दी दुहाई तो फौरन रकम बढ़ाई

संस्कृति विभाग के अधिकारी द्वारा बजट का अभाव बताए जाने पर उन्होंने तीन लाख की बजट को 5 लाख किए जाने की स्वीकृति बैठक में ही प्रदान की। उन्होंने शहर की क्षतिग्रस्त सड़कों की सूची बनाकर प्राप्त धनराशि के सापेक्ष तत्काल उसका मरम्मत कराए जाने का निर्देश देते हुए कहा कि जिन सड़कों के मरम्मत हेतु धनराशि उपलब्ध नहीं है, तत्काल शासन को अवगत कराया जाए धनराशि मुहैया कराई जाएगी। जनपद की कोई भी सड़क क्षतिग्रस्त नहीं रहनी चाहिए। सभी सड़कें पूरी तरह गड्ढा मुक्त एवं उच्च क्वालिटी की होनी चाहिए। इस दौरान उन्होंने स्मार्ट सिटी योजना की समीक्षा के दौरान कराए जा रहे कार्यों को स्तर पर अभियान चलाकर निर्धारित अवधि में उच्च गुणवत्ता के साथ पूरा कराए जाने पर विशेष जोर दिया।

Related posts