वाराणसी। पिछले माह चौकाघाट स्थित सांस्कृतिक संकुल में बैठक के दौरान बवाल और प्रकरण पुलिस से कोर्ट तक पहुंचने के बाद मेयर मृदुला जायसवाल का पार्षदों को लेकर रवैया बदला है। अवस्थापना निधि के विकास योजनाओं के सम्बन्ध में मंगलवार को मेयर ने न सिर्फ पार्षदों से विचार विमर्श किया गया बल्कि नगर आयुक्त को निर्देशित किया गया कि पूर्व के प्रस्तावित विकास कार्य एवं वर्तमान के विकास कार्यो की विस्तृत जानकारी पार्षदो को उपलब्ध करायी जाय। भविष्य में कोई भी विकास कार्य हो उसकी पूर्व सूचना पार्षदों को देना सुनिश्चित किया जाये। यही नहीं विकास कार्य होने के पश्चात नगर निगम के जिम्मेदार अधिकारी एवं क्षेत्रिय पार्षद द्वारा सत्यापित करने पर ही पूर्ण भुगतान किया जाय।

सड़क की गुणवत्ता जांच कर मांगी रिपोर्ट

मेयर के सामने तीन वार्डो के पार्षदो द्वारा सड़क कार्य के गुणवक्ता की कमी का शिकायत का प्रकरण भी सामने आया। इसे गंभीरता से लेते हुए मेयर ने मुख्य अभियंता लोकेश जैन को निर्देश दिया गया कि इसकी जांच कर रिर्पोट तत्काल प्रस्तुत करें। इस बैठक के दौरान नगर निगम के अधिकारीगण एवं पार्षदगण उपस्थित रहे। मेयर बुधवार की सुबह साढ़े 7 बजे अम्बालिकापुरी कालोनी गेट से छित्तुपुर एवं लोको छित्तुपुर वार्ड का निरीक्षण करेंगी जिसमें नगर निगम एवं जलकल के अधिकारीगण सम्मलित होगे।

admin

No Comments

Leave a Comment