आजमगढ़।  बसपा सुप्रीमो मायावती ने मंगलवार को आजमगढ़ के रानी की सराय चेक पोस्ट में तीन मंडल के कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। निकाय चुनाव के पहले मायावती की ये रैली पूर्वांचल की सियासत के लिए महत्वपूर्ण मानी जा रही है। पूर्वांचल में अपनी राजनीतिक वजूद को जिंदा रखने के लिए मायावती लगातार कोशिशें कर रही हैं। मुलायम सिंह यादव के गढ़ माने जाने वाले जिले में आयोजित इस रैली में मायावती पूरे तेवर में नजर आईं। उन्होंने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा लेकिन समाजवादी पार्टी पर चुप्पी साधकर भविष्य के राजनीतिक गठजोड़ की संभावनाओं को पंख जरूर लगा दिए।

बीजेपी पर कुछ यूं बरसीं मायावती

अपने संबोधन के दौरान मायावती बीजेपी पर हमलावर दिखीं। उन्होंने कहा कि “बीजेपी की सोच जातिवादी है। केन्द्र सरकार अभी तक अपने चुनावी वायदों को पूरा नहीं कर सकी है। लोगों का भटकाने के लिए सरकार लोकसभा चुनावों से पहले अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण करवा सकती है। उन्होने आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी ने मेरी हत्या कराने की साजिश रची। बीजेपी दलित और मुसलमानों को प्रताड़ित करने का काम कर रही है।” सहारनपुर हिंसा पर मायावती ने कहा, “शब्बीर पर गांव में जब दलितों का उत्पीड़न हुआ, मैंने जब मुद्दे को राज्यसभा में रखने की कोशिश की, तब सरकार के मंत्री और सांसदों ने मुझे बोलने नहीं दिया। इसी कारण मैंने दलितों के हित के लिए राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया।”

योगी पर साधा निशाना

मायावती ने सीएम योगी आदित्यनाथ पर हमला करते हुए कहा कि योगी पूर्वांचल का विकास तब करेंगे जब उन्हें फुर्सत मिलेगी। योगी पूर्वांचल का विकास नहीं कर रहे हैं। पूर्वांचल का विकास तब होगा जब योगीजी को मंदिरों से फुर्सत से मिलेगी। अयोध्या में राम मंदिर बनने से किसी भी दलित का विकास नहीं होगा। दलितों के लिए भगवान बाबा साहेब अंबेडकर ही हैं। मायावती ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि भाजपा के बहकावे में आकर आप भाजपा को वोट मत देना। केन्द्र सरकार पर हमला करते हुए मायावती ने कहा कि मोदी विदेश में अपनी छोटी-छोटी उपलब्धि बता रहे हैं। लेकिन अपने किसी भी वायदे को पूरा नहीं किया। मोदी सरकार केवल लोगों को लुभाने के लिए योजना बनाती है,जबकि उन्हें पूरा करने पर काम नहीं करती है।

admin

No Comments

Leave a Comment