वाराणसी। पदभार ग्रहण करने के बाद पहली बार पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र काशी पहुंचे प्रदेश पुलिस के मुखिया ओपी सिंह ने रविवार को अधीनस्थों के संग कानून-व्यवस्था को लेकर बैठक की। डीजीपी ने मीडिया से बातचीत के दौरान दावा किया कि पिछले एक साल में प्रदेश में एक भी दंगा नहीं हुआ है। कासगंज और आजमगढ़ सरीखी साम्प्रदायिक घटनाएं हुई तो कुछ घंटो में उस पर काबू पा लिया गया। अपराध के मोर्चे पर काफी काम हुआ है और कुख्यात इनामियों पर नकेल कसी गयी है। पिछले दिनों हुई इंवेस्टर्स मीट में दुनिया भर से आये निवेशकों ने भी कहा कि कानून-व्यवस्था में सुधार हुआ है जिससे यहां पर उद्यम लगाने में कोई समस्या नहीं है। अपराध पर काबू पाने के संग पुलिस अब जनता का दिल जीतना चाहती है और ऐसे कई काम शुरू हो रहे हैं।

936

महिलाओं के संग अपराध पर बने अलग कोर्ट

डीजीपी का कहना था कि महिलाओं के संग होने वाले अपराधों को लेकर शासन गंभीर है। ऐसे मामलों में निर्देश दिये गये हैं कि सीनियर अफसर खुद प्रकरण को देखें। पुलिस ऐसा प्रस्ताव तैयार करा रही है कि महिलाओं के साथ होने वाले अपराधों की सुनवाई के लिए अलग से कोर्ट बनायी जाये। फास्ट ट्रैक कोर्ट की तर्ज पर तेजी से विचारण के संग सजा का ग्राफ बढ़े। इसके संग ही महिला हेल्प लाइन और थानों के एंटी रोमिंयो स्क्वाएड को डायल 100 से जोड़ा जा रहा है।

935

गैंगस्टर की 198 करोड़ की सम्पति जब्त

संगठित अपराधों को अंजाम देने वाले गिरोहों के खिलाफ कार्रवाई के साथ उनके गुर्गों की नकेल कसी गयी है। गैंगस्टर एक्ट के तहत पुलिस ने लगभग 198 करोड़ की सम्पति को जब्त किया है। जेलों से बड़ी संख्या में मोबाइल बरामद होने पर डीजीपी ने चिन्ता जताते हुए कहा कि इसके लिए संबंधित विभाग से समन्वय बनाया गया है। शासन ने भी पिछले दिनों कई जेल अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जिनकी रिपोर्ट पुलिस ने भेजी थी।

admin

No Comments

Leave a Comment