मऊ। मऊ जनपद में नगर निकाय चुनावों को लेकर प्रशासन जो दावे किये थे वह खोखले साबित हुए। फर्जी वोटिंग को लेकर कई स्थानों पर झड़प हुई। शहर के अतिसंवेदनशील बूथ भाग संख्या 147 व 149 मुहल्ला हठ्ठीमदारी में एक प्रत्याशी द्वारा बीएलओ और अन्य लोगों की पिटाई, तोड़फोड़ व फर्जी मतदान किये जाने पर भाजपा कार्यकर्ता आक्रोशित हो गये थे। बीजेपी प्रत्याशी संजीव जायसवाल उर्फ डिम्पल ने मनोज राय, त्रिवेणी वर्मा सहित सैंकड़ो समर्थकों के साथ कोतवाली गेट के सामने धरना व नारेबाजी करने लगे और मतदान को निरस्त कराने की मांग करने लगे। इस बीच भाजपाजनों व पुलिस प्रशासन के बीच काफी नोक-झोंक हुई। जिसके बाद सूचना मिलते ही सीडीओ आशुतोष कुमार द्विवेदी भारी फोर्स के साथ पहुच कर स्थिति को संभाल लिया। सीडीओ के आश्वासन के बाद भाजपाजनों ने धरना समाप्त किया। इस बार जिस तरह वोटिंग हुई और दोपहर बाद अफवाहों का सहारा लिया गया उससे अप्रत्याशित परिणाम आये तो आश्चर्य नहीं होना चाहिये।

453
जनपद में मतदान का प्रतिशत 61.7 रहा
बुधवार को जनपद में मऊ नगर पालिका व 9 नगर पंचायत के लिये 61.7 प्रतिशत मतदान हुआ। देर शाम स्पष्ट हुआ कि एकमात्र नगर पालिका मऊ में 57 प्रतिशत तथा नगर पंचायत अदरी में 68%, कोपागंज में 62%, घोसी में 61% अमिला में 68%, दोहरीघाट में 62%, मुहम्मदाबाद गोहना में 64%, वलीदपुर में 56%, चिरैयाकोट में 55% व मधुबन में 65% मतदान हुआ। नगर निकाय चुनाव के तीसरे चरण में नगर पालिका तथा नगर पंचायतों के अध्यक्षों और 173 वार्ड सभासदों को चुनने के लिए मतदाता सुबह 7 बजे से ही लाइन में लग गये थे। लेकिन धीरे धीरे मतदान की प्रक्रिया धीमी होती चली गयी। हालांकि फर्जी मतदान को लेकर कई जगह बवाल भी हो गया। जिसके बाद पुलिस ने लाठी भी भांजा।
भाजपा-बसपा कार्यकर्ताओं में भिडंत
कोपागंज नगर पंचायत के कन्या जूनियर हाईस्कूल में बने आदर्श मतदान केंद्रों पर फर्जी एजेंट को लेकर दूसरे प्रत्याशी समर्थकों में आक्रोशित हो गयें। इसे लेकर सुरक्षाकर्मियों से झड़प होने से प्रशासन ने लाठी भांज कर उपद्रवियों को भगा दिया। वोटर लिस्ट से नाम कटने की शिकायत सभी मतदान केंद्रों पर मिली थी। अतिसंवेदनशील चिरैयाकोट नगर पंचायत में फर्जी मतदान के दौरान बवाल, जिला अधिकारी मौके पर पहुंचे,एक दर्जन लोगों को फर्जी आधार कार्ड के साथ दबोचा लिया। शहर के डीसीएसके पीजी कालेज बूथ पर मतदान समाप्त होते ही भाजपा व बसपा समर्थक आपस मे भिड़ गए। अंत में पुलिस ने लाठी भांजकर सभी को भगाया। कुल मिलाकर प्रत्याशियों का भाग्य मतपेटी में बंद हो गया। सोनी धापा इंटर कॉलेज बूथ पर फर्जी मतदाता कार्ड और आधार कार्ड के साथ आए तीन मतदाताओं को पुलिस ने दबोचा जबकि चकमा देकर एक भाग निकला।

admin

No Comments

Leave a Comment