गाजीपुर। रेल राज्य मंत्री संचार मनोज सिन्हा ने जिले को दो और नई सौगातें दी। उन्होंने नवनिर्मित रेलवे प्रशिक्षण केंद्र व 400 मीटर के वाशिंग पिट का उद्घाटन किया। इस अवसर पर माननीय मंत्री जी ने कहा कि जल्द ही दुल्लहपुर, सादात, जखनियां, औड़िहार होते हुए राजधानी लखनऊ के लिए एक ट्रेन चलाई जाएगी। यह ट्रेन सुबह लखनऊ के लिए जाएगी तथा शाम को वहां से गाजीपुर के लिए वापस आएगी। इस अवसर पर मौजूद जनसमूह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि बलिया से सुबह चलने वाली मेमो पैसेंजर ट्रेन वाराणसी सिटी पर जाकर रुक जाती है और शाम को वापस होती है। लिहाजा उस ट्रेन को दोपहर में वाराणसी से गाजीपुर सिटी तक का फेरा लगाने की व्यवस्था भी हो रही है।उन्होंने कहा कि दिसंबर से पैसेंजर ट्रेनों का अंतिम पड़ाव वाराणसी सिटी से बढ़ाकर मंडुवाडीह तक हो जाएगा। इसके लिए दोहरीकरण का कार्य प्रगति पर है। उन्होंने ट्रेनिंग सेंटर के अधिकारियों से अपेक्षा करते हुए कहा कि रेलकर्मियों को ऐसी ट्रेनिंग दी जाए जिससे कि किसी तरह के हादसे की गुंजाइश नहीं रहे।

मंत्री ने की रेलकर्मियों की प्रशंसा

उन्होंने रेल कर्मियों की प्रशंसा की और कहा कि यदि रेलवे 1 दिन के लिए बंद हो जाए तो हाहाकार मच जाएगा। लेकिन हमारे रेल कर्मचारी होली, ईद, दीपावली सहित तमाम त्योहारों पर भी बिना छुट्टी लिए कार्य करते रहते हैं जिसके लिए वह तारीफ के काबिल हैं। नवनिर्मित वाशिंग पिट की चर्चा करते हुए मनोज सिन्हा ने कहा कि गाजीपुर सिटी से चलने वाली एक्सप्रेस ट्रेनों में गंदगी की शिकायत अब खत्म होगी। मौजूदा वक्त में वाशिंग पिट 400 मीटर लंबी है लेकिन जल्द ही इस उसमें 200 मीटर की और बढ़ोतरी की जाएगी । वाशिंगपिट के बनने के बाद गाजीपुर सिटी से और भी एक्सप्रेस ट्रेनों के चलने का अवसर बनेगा। उन्होंने कहा कि इस वक्त विभिन्न महानगरों के लिए गाजीपुर सिटी से पैसेंजर तथा एक्सप्रेस को मिलाकर कुल 22 ट्रेनें गुजर रही हैं।

admin

No Comments

Leave a Comment