चंदौली। प्रदेश के नक्सली हिंसा से प्रभावित जनपदों में शामिल चंदौली में विकास कार्यों की समीक्षा के लिए शुक्रवार को पहुंची केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने दुष्कर्म के मामलों को लेकर बड़ा बयान दया है। केंद्रीय मंत्री का मानना है कि 12 वर्ष से कम उम्र की मासूम बच्ची के साथ रेप करने वाले कुकर्मी को मौत से कम की सजा नहीं मिलनी चाहिए। कलेक्ट्रेट सभागार चंदौली में विकास कार्यों की समीक्षा बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि कठुआ जैसी घटना से मन बहुत दुखी होता है। अपने स्वभाव के विपरीत भावुक अंदाज में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जब भी मासूम बच्चों के साथ रेप की घटनाएं होती हैं ऐसे में रेप करने वालों को सख्त से सख्त सजा होनी चाहिए और वह सजा मौत की होनी चाहिए। हालांकि उन्होंने यह भी कहना कि पॉक्सो एक्ट में बदलाव की जरूरत है जिसकी खातिर चार राज्यों ने मांग की है। इसमें कुछ आवश्यक बदलाव किए जाने चाहिए जिससे दुश्कर्म के मामलों में कमी लाई जा सके। साथ ही बलात्कारियों को सख्त से सख्त सजा मिल सके।

उन्नाव कांड को लेकर पार्टी का किया बचाव

अलबत्ता केन्द्रीय मंत्री ने उन्नाव के बहुचर्चित दुष्कर्म मामले में पार्टी के संग प्रदेश सरकार का बचाव किया। उनका कहना था कि भाजपा देश ही नहीं बल्कि दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी बन चुकी है। एक-दो नहीं पूरे 11 करोड़ कार्यकर्ता इससे जुड़े हैं। अगर ऐसे इक्का-दुक्का मामले सामने आते हैं तो पूरी पार्टी को दोषी ठहरना कगा तक उचित है। मीडिया की सीख देते हुए केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि दो मिनट में कार्रवाई नहीं होती बल्कि कानूनी प्रक्रिया का पालन करना होता है। प्रदेश और केन्द्र सरकार ने मामले को गंभीरता से लिया है। जल्द सच्चाई सामने आयेगी। समीक्षा बैठक के दौरान केन्द्रीय मंत्री ने सरकार की मंशा के अनुरूप कार्य करने की हिदायत अधिकारियों को दी। समीक्षा बैठक में डीएम नवनीत सिंह चहल, सीडीओ सहित विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

admin

No Comments

Leave a Comment