मऊ। गोरखपुर से चलकर लोकमान्य तिलक टर्मिनल गोदान एक्सप्रेस ट्रेन में गुरुवार की सुबह मोहम्मदाबाद-गोहना स्थानीय पुलिस ने आधा दर्जन महिलाओं को हिरासत में ले लिया। महिला पुलिस ने तलाशी ली तो उनके पास से पर्स बरामद हुआ जो कुछ मिनटों पहले इसी ट्रेन में सवार एक महिला का उड़या गया था। पूछताछ में स्पष्ट हुआ कि समूह में चलने वाली यह महिलाएं ट्रेन में पर्स व चैन छिनैती करती है। जीआरपी आजमगढ़ के एसआई एम एस खान एवं आरपीएफ के एसआई सत्येंद्र कुमार सिंह को स्थानीय पुलिस ने इन सभी महिलाओं को उनके हवाले कर दिया। मोहम्मद एहसान अहमद ने इस मामले में तहरीर दी है जिसके आधार पर मुकदमा कायम किया गया है।

बहन का पर्स उड़ाने पर भाई ने पकड़ा था

कोतवाली क्षेत्र के ग्राम बंदी कला निवासी मोहम्मद अहसान की बहन राशिदा अपने रिश्तेदारों के साथ सुबह 10 बजे मोहम्मदाबाद गोहना रेलवे स्टेशन से गोदान एक्सप्रेस ट्रेन में बैठकर मुंबई के रवाना हुई थी। ट्रेन के चलते समय आधा दर्जन महिलाएं सवार हुआ और धक्का-मुक्की करते हुए राशिदा का पर्स उड़ा दिया। इसी बीच पीड़िता चिल्लाने लगी। बाद में एहसान ने दौड़कर इस महिला को पकड़ा। इसके कुछ ही देर बाद ट्रेन रुकी तब सहायक स्टेशन मास्टर ने इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी। पुलिस ने इन सभी महिलाओं को कोतवाली ले आई एवं इसकी सूचना जीआरपी और आरपीएफ आजमगढ़ पुलिस को दी। जहां चौकी प्रभारी अजय तिवारी ने इन महिलाओं को महिला पुलिस के सहयोग द्वारा जमा तलाशी के दौरान उक्त महिला का पर्स में रखे हुए लगभग 5 हजार रुपये बरामद किये।

admin

No Comments

Leave a Comment