वाराणसी। तीन दशक पहले हुए सिकरौरा कांड में अहम गवाह और वादिनी हीरावती की गवाही गुरुवार को होनी है लेकिन इससे पहले आरोपित एमएलसी बृजेश सिंह का इलाज कर रहे डाक्टर को कानूनी नोटिस कोर्ट के माध्यम से दिया गया है। हीरावती के विधिक पैरोकार राकेश न्यायिक ने अपने अधिवक्ता के माध्यम से बीएचयू में इलाज करने वाले डा. सौरभ सिंह को नोटिस दिया है। उधर सेन्ट्रल जेल के वरिष्ठ अधीक्षक ने भी कोर्ट की मंशा को भापते हुए सीएमएस से बृजेश की मौजूदा स्थिति के बारे में जानकारी मांगी है। दरअसल बीएचयू ने जिस बीमारी का इलाज बताया था उसका इलाज सात-आठ दिन में हो जाता है जबकि बृजेश लगभग तीन सप्ताह से वहां पर भर्ती हैं। अधिवक्ता अमरेन्द्र विक्रम ने नोटिस में 11 बिन्दुओं पर सिलसिलेवार जबाव मांगा है जिससे हडकंप मची है।

शिवपुर थाने ने नहीं भेजी रिपोर्ट, सुनवाई 20 को

उधर बाहुबली बृजेश और मुख्तार के बीच कथित ‘दोस्ती’ को लेकर कोर्ट में दाखिल प्रार्थनापत्र पर मंगलवार को शिवपुर पुलिस ने रिपोर्ट नहीं भेजी थी। सीअरपीसी की धारा 156 (3) के तहत दिये प्रार्थनापत्र में अंतरराष्ट्रीय माफिया दाउद इब्राहिम और पूर्व मंत्री रघुराज प्रताप सिंह राजा भैया का भी जिक्र है। आरोप है कि राजा भैया ने दोनों बाहुबलियों के बीच समझौता करा दिया है। दोनों अपने आर्थिक साम्राज्य की कातिर एक-दूसरे के मुकदमों को खत्म करा रहे हैं।

admin

No Comments

Leave a Comment