वाराणसी। इस्‍लामिक सद्भावना फाउंडेशन के सचिव अधिवक्‍ता शशांक शेखर त्रिपाठी की ओर से वाराणसी के एक फेसबुक यूजर के खिलाफ शुक्रवार को कैंट थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है। पिछले एक सप्ताह से शशांक इसके लिए आईजी समेत आला अधिकारियों को प्रार्थनापत्र देते हुए आरोपों के प्रमाण के रूप में साक्ष्य सौंपे थे। आरोप है कि यूजर सत्‍य प्रकाश श्रीवास्‍तव की ओर से प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी, बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्री स्‍मृति ईरानी, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और बीजेपी प्रवक्‍ता संबित पात्रा के खिलाफ दुर्भावनापूर्ण तरीके से एडिटेड फोटो फेसबुक पर डाली गयी है। खास यह कि आरोपित ने पीएम के खिलाफ चुनाव भी लड़ा था लेकिन जमानत ही नहीं जब्त हुई बल्कि अंतिम स्थान रखने वालों में था।

877

देवी-देवताओं की फोटो की थी एडिट नेताओं के रूप में

इस संबंध में कैंट थाने में तहरीर देते हुए अधिवक्‍ता ने यह आरोप लगाया कि पिछले दिनों जब वह अपने फेसबुक को चेक कर रहे थे तभी सत्‍यप्रकाश श्रीवास्‍तव की वाल पर एक आप‍त्तिजनक पोस्‍ट दिखायी दिया। शिकायतकर्ता के अनुसार 15 अक्‍टूबर को प्रकाशित की गयी इस पोस्‍ट में सनातन धर्म के सर्वोच्‍च पूज्‍य भगवान विष्‍णु, माता लक्ष्‍मी, भगवान ब्रहमा, देवर्षि नारद और शेष नाग की तस्‍वीर को एडिट करके पीएम मोदी, अमित शाह, स्‍मृति ईरानी, रविशंकर प्रसाद और संबित पात्रा की तस्‍वीर लगायी गयी थी। शिकायतकर्ता शशांक शेखर त्रिपाठी के अनुसार उपरोक्‍त सभी नेताओं की छवि खराब करने के उद्देश्‍य से उनके खिलाफ जन भावना भड़काकर धार्मिक उन्‍माद पैदा करने के आशय से इस तहर की पोस्‍ट डाली गयी है।

admin

No Comments

Leave a Comment