ट्रक में लदा माल लाखों का माल गायब कर खाई में धकेलकर आग लगा दी, जांच में सामने आयी सच्चाई तो पुलिस ने की कार्रवाई

मीरजापुर। अपराध के बाद खुलासे में पुलिस को समस्या तब होती है जब सूचना देने वाला वादी ही इसमें शामिल हो। ऐसा ही एक मामला हलिया पुलिस के लिए गले की फांस बना था। दरअसल एक हजार बोरी आटा-दाल लादकर कटनी (मध्य प्रदेश) से दरभंगा (बिहार) के लिए चला ट्रक ड्रमण्डगंज पहाड़ी के नीचे मिला था। ट्रक कुछ इस तरह जला था कि कुछ स्पष्ट होना मुश्किल था। इंस्पेक्टर अश्वनी कुमार त्रिपाठी ने रविवार को इस मामले में शिवसुन्दर केशरी और लालबहादुर को गिरफ्तार करते हुए मामले का खुलासा किया है। इनके पास से नकदी समेत 9.6 लाख का माल भी बरामद हुआ है।

नीयत हो गयी थी खराब

एसपी मीरजापुर अवधेश पाण्डेय ने मामले के खुलासे की खातिर थाने के साथ क्राइम ब्रांच को टास्क सौंपा था। रविवार को छापेमारी में आरोपितों को पकड़कर पूछताछ की गयी तो अपना जुर्म कबूल करते हुए उन्होंने कहाा कि नीयत खराब हो गयी थी। अनिल इण्डस्ट्री कटनी प्राइवेट लिमिटेड, मेसर्स केवलानी एग्रो इण्ड्रस्ट्री कटनी प्राइवेट लिमिटेड, मेसर्स हरिओम वल्सेस कटनी से 4 जुलाई को दाल की 433 बोरी व आटे की 587 बोरी लादकर ट्रक दरभंगा बिहार के लिए निकला था। हनुमना बार्डर के पास ट्रक में लदे माल में से दाल व आटा दूसरे ट्रक में पलटी कर माल गायब कर ट्रक को ड्रमण्डगंज पहाड़ी के नीचे गिरा कर ट्रक पर डीजल/पेट्रोल डालकर आग लगा कर जला दिया गया था। घटना में प्रयुक्त ट्रक और टवेरा के साथ गायब माल में से 380 बोरी अरहर दाल व 23 बोरी आटा कीमत लगभग 9 लाख रूपया व माल बिक्री का 60,200 रूपया बरामद किया गया।

Related posts