निरहुआ बन सकता है ‘खतरा’ जानकर अखिलेश ने चला रोड शो का पैंतरा, बाहुबली की गुप्त ‘डील’ से सपाई नहीं कर रहे गुडफील

आजमगढ़। भोजपुरी सुपरस्टार दिनेशलाल यादव निरहुआ राजनीति के मैदान में भले नये खिलाड़ी है लेकिन उनके दांव किसी मंजे राजनेता सरीखे हैं। सपाइयों ने निरहुआ के लिए जो भी हथियार इस्तेमाल किया उसे ही अपनाते हुए किया पलटवार से खलबली मच गयी है। अपना विरोध करने वालों को ‘माफ’ करने की डीएम से की अपील असर दिखा रही है। इसके अलावा बाहुबली रमाकांत भले कांग्रेस में शामिल हो गये हैं लेकिन निरहुआ को उनका मिला ‘आर्शीवाद’ भी सपा के लिए फांस बना है क्योंकि अनुरोध के बाद भी पार्टी में शामिल नहीं किया गया था। अब अखिलेश ने 18 अप्रैल को अपने नामांकन के संग रोड शो करने का भी प्लान तैयार किया है जिससे अधिक से अधिक लोगों को चेहरा दिका सके।

यह का समूचा कार्यक्रम

आजमगढ़ से पिछली बार कांटे की टक्कर में मुलायम सिंह यादव जीते थे लेकिन प्रतिद्वंदी बाहुबली रमाकांत यादव के भाजपा से रिश्ते खराब होने की भनक मिलने के बाद पिता की विरासत संभालने के बहाने सेफ सीट के रूम में अखिलेश ने यहां से चुनाव लड़ने का निर्णय लिया था। सपा के मुताबिक अखिलेश यादव का हेलीकाप्टर 18 अप्रैल को मंदूरी हवाई पट्टी पर लैंड करेगा। यहीं से कलेक्ट्रेट और शहर में रोड शो निकाला जाएगा। यही नहीं दोपहर तक नामांकन के बाद बैठोली तिराहे पर जनसभा का भी आयोजन किया जायेगा।

अंसारी परिवार से कराना होगा प्रचार

सूत्रों की माने तो आजमगढ़ के समीकरणों को साधने के लिए सपाइयों ने अंसारी परिवार से भी सम्पर्क साधा है। अखिलेश के इस परिवार से रिश्ते ठीक नहीं रहे और पिछली बार पार्टी में शामिल कराने के बाद बाहर का रास्ता दिखा दिया था। अब अंसारी परिवार पूर्वांचल में बसपा का प्रमुख चेहरा है जो गठबंधन में बड़ा हिस्सेदार है। चर्चाओं की माने तो बसपा नेताओं से सम्पर्क कर अंसारी परिवार से संयुक्त प्रचार अभियान में शामिल होने का अनुरोध किया गया है। इसकी पुष्टि नहीं हुई है लेकिन चर्चाओं की माने तो प्रयास में कोई कमी नहीं है।

Related posts