भट्ठा मालिक लाले हत्याकांड का खुलासा, बहू ने श्वसुर की हत्या के लिए 50 हजार नकदी संग बाइक और दो बिस्वा जमीन की दी थी ‘सुपारी’

वाराणसी। लॉक डाउन आरम्भ होने से पहले जो संगीन मामले अनसुलझे रह गये थे पुलिस ने उनके खुलासे की तरफ ध्यान दिया है। इस क्रम में लगभग ढाई माह पहले रमईपुर (फूलपुर) निवासी भठ्ठा मालिक राम लाल पटेल उर्फ लाले की हत्या करने वाले शूटर को पुलिस ने छापेमारी के दौरान धर दबोचा। पूछताथ में गिरफ्तार शूटर ने चौंकाने वाले खुलासे किये। हत्या की सुपारी मृतक की छोटी बहू थी और बाद में दबिश देकर उसके पति को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बुधवार को गिरफ्तार शूटरों को मीडिया के सामने पेश करते हुए सिलसिलेवार ढंग से पूरे घटनाक्रम का ब्योरा दिया।

कुख्यात सिज्जन ने करायी थी वारदात

पूछताछ के दौरान गिरफ्तार आनन्द ने बताया मैं डी-11 गैंग का सदस्य हूं जिसके सरगना सिज्जन यादव है । पहले भी मैं 2012 हत्या मे जेल जा चुका हूं। भठ्ठा मालिक राम लाल पटेल उर्फ लाले को सिज्जन यादव ने मरवाया था। मुझे और मिथलेश पटेल को सिज्जन यादव ने 50 हजार रुपये पिस्टल कारतूस उपलब्ध कराया। कहा था कि भठ्ठा मालिक रामलाल पटेल की हत्या उनका बेटा लाल बहादुर करवाना चाहता है, उसी ने यह पैसा दिया है। रामलाल पटेल की हत्या के बाद एक अपाची मो0 आनन्द को व दो बिस्वा जमीन रोड पर सिज्जन यादव को मिलनी थी। एक दिन पहले ही मै और मेरा दूसरा साथी भठ्ठा मलिक के घर पर गये परन्तु हम लोगो को उस दिन थोड़ी देर हो गयी थी, जिसके कारण हम लोगों ने वारदात तो अंजाम नहीं दिया। अगले दिन 19 मार्च को भठ्ठा मालिक को उसके घर के सामने जब वह मन्दिर पर पूजा कर रहा था तो गोली मार दी।

हिस्सा न मिलने के चलते था बेटा नाराज

बाद में आनंद को साथ लेकर फूलपुर व क्राइम ब्रान्च पुलिस टीम भठ्ठा मालिक राम लाल पटेल के छोटे पुत्र लाल बहादुर पटेल को गिरफ्तार कर लिया। कड़ाई से पूछताछ पर अभियुक्त लालबहादूर पटेल ने बताया की साहब मेरे पिता जी रामलाल ने मुझे भठ्ठे के कारोबार से आरोप लगाकर हटा दिया था और भठ्ठे का सारा कारोबार इनरमन को दे दिया था । अभी हाल मे 32 लाख रुपये जमीन बेचकर बड़े भाई को दे दिया था। अब सारी जायदाद उन्ही को देने वाले थे। मैंने सिज्जन यादव से मिलकर अपने पिता कि हत्या करवा दी।

Related posts