‘अगवा’ युवती से कई साल छोटा निकला ‘अपहरणकर्ता’, जीआरपी ने बिहार पुलिस को सौंपा

चंदौली। अमूमन प्रेम-प्रसंग के मामलों में घर से भागने के मामलों में युवक पर अपहरण की धाराओं के तहत मुकदमा कायम करा दिया जाता है। कुंवारों और हमउम्र में ऐसी वारदातें सुनने में आती हैं लेकिन पीडीडीयू जंक्शन पर गुरुवार की रात कुछ और ही मंजर देखने को मिला। रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) ने 22466 (आनंद विहार-बैधनाथधाम एक्सप्रेस) के जनरल कोच से एक युवती को बरामद किया है। पकड़े जाने के बाद युवती से पूछताछ के बाद आरपीएफ का दावा था कि उसको बिहार से अपहरण कर गुजरात ले जाया गया था। खास यह कि जिस युवक को अपहर्ता के रूप में गिरफ्तार किया गया वह विवाहिता युलती से सात साल छोटा है। कागजी कार्रवाई पूरी कर गिरफ्तार युवक-युवती को आरपीएफ ने बिहार पुलिस के हवाले कर दिया ।

कुछ इस तरह हुुई कार्रवाई

एसआई आरपीएफ कन्हैयालाल के मुताबिक पोस्ट पीडीडीयू को सूचना मिली कि आनंद विहार-बैधनाथधाम एक्सप्रेस के पिछले जनरल कोच मे एक महिला यात्री रो रही है। इसके आधार पर प्लेटफार्म एक पर आई ट्रेन को अटेंडकर महिला से पूछताछ की गयी। महिला ने बताया कि लगभग 15 दिन पूर्व ब्लैकमेल कर उसका अपहरण कर लिया गया था। वह पुलिस सुरक्षा चाहती है। महिला के निशानदेही पर अपहरणकर्ता को पास की सीट से पकड़ लिया गया। पूछताछ में महिला यात्री ने अपना नाम पूजा कुमारी (27) निवासिनी समस्तीपुर बताया। गिरफ्तार विनय कुमार (20) के विरुद्ध टाउन थाना समस्तीपुर में अपहरण का मामला दर्ज था। युवक एवं युवती को बिहार पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया।

Related posts