मीरजापुर। इलाहाबाद-मुगलसराय रेल मार्ग पर जिगना और माण्डा रोड स्टेशन के बीच गुरुवार की रात साढ़े नौ बजे के करीब अप लाइन से गुजर रही मालगाड़ी की चपेट में ट्रैक पार कर रहा मवेशी आ गया। ट्रेन की चपेट में आए मवेशी का मलबा इंजन के काउकैचर में फंस गया और प्वाइंट पर पहुंच कर मालगाड़ी खड़ी हो गयी। इससे अप लाइन का सिग्नल विभिन्न स्टेशनों पर फेल हो गया। अप लाइन से गुजर रही डिलक्स एक्सप्रेस को गैपुरा एवं अन्य स्टेशनों पर मालगाड़ियों को खड़ी करना पड़ा। मौके पर पहुंचे इंजीनियरों व रेल कर्मियों ने काउकैचर में फंसे मवेशी के मलबे को बाहर निकाला, तब जा कर अप लाइन पर ट्रेनों का परिचालन शुरू हो सका। समूचे घटनाक्रम के चलते यात्री हलकान रहे क्योंकि अधिकांश को ट्रेन खड़े होने का कारण नहीं पता चल पा रहा था।

आधी रात को शुरू हो सका गमना-गमन

गुरुवार की रात साढ़े नौ बजे के करीब मुगलसराय से कानपुर जा रही कोयले से भरी मालगाड़ी जब जिगना स्टेशन पार कर माण्डारोड की तरफ बढ़ी तभी हेमपुर रेलवे क्रासिंग के पास पहुंची तो रेलवे ट्रैक पार कर रहा मवेशी उसकी चपेट में आ गया। इंजन के धक्के से मवेशी की मौत हो गयी जबकि उसका मलबा इंजन के पहिए के पास लगे काउकैचर में फंस गया। कुछ दूर जाने के बाद चालक ने ट्रेन को खड़ी कर मवेशी के मलबे को बाहर निकालना चाहा पर सफल नहीं हो पाया। तब उसने इसकी सूचना कंट्रोल रूम को दे दी। इसकी जानकारी होते ही अप लाइन पर ट्रेनों का परिचालन रोक दिया गया। अप लाइन से गुजर रही डिलक्स एक्सप्रेस को गैपुरा स्टेशन पर रोक लिया गया। वहीं अन्य स्टेशनों पर मालगाड़ियों को खड़ा करना पड़ा। मीरजापुर से मौके पर पहुंचे टीआई रंजीत कुमार व सिग्नल विभाग के कर्मचारियों ने किसी तरह काउकैचर में फंसे मवेशी को बाहर निकालने के बाद प्वाइंट पर फेल हुए सिग्नल के सर्किट को दुरुस्त किए। तब जा कर रात साढ़े 11 बजे अप लाइन पर ट्रेनों का परिचालन शुरू हो सका।

admin

No Comments

Leave a Comment