ज्वेलर्स डकैती कांड को लेकर आभूषण व्यापारियों ने बंद करायी दुकानें, आईजी ने मौका मुआयना कर शीघ्र खुलासे का दिया आश्वासन

जौनपुर। पुलिस कार्यालय से कुछ दूरी पर स्थित कलेक्ट्री चौराहे के समीप गुरुवार की रात श्री महालक्ष्मी ज्वेलर्स के यहां एक करोड़ से अधिक की डकैती को लेकर आभूषण व्यवसायी जबरदस्त आक्रोश में हैं। शुक्रवार को इसके विरोध में स्थानीय सर्राफा मंडल ने शहर की सभी सर्राफा दुकानों को बंद करवाते हुए अपना विरोध जताया। साथ ही जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर जल्द खुलासे के संग पीड़ित परिवार को सुरक्षा समेत दूसरी मांगे रखी। उधर वाराणसी रेंज के आईजी विजय सिंह मीणा दोपहर तक मौका मुआयना के लिए पहुंचे और भुक्तभोगी से मिलने के संग अधीनस्थों से वारदात के बाबत जानकारी ली। आईजी का कहना था कि खुलासे के लिए रेंज स्तर पर कई टीमें गठित की गयी है और कुछ अहम सुराग मिले हैं जिसकी पड़ताल की जा रही है।

फिल्मी स्टाइल में दिया वारदात को अंजाम

गौरतलब है कि गुरुवार की रात नौ बजे जिस समय दुकान को बंद करने की तैयारी चल रही थी महालक्ष्मी ज्वेलर्स पर आधा दर्जन की संख्या में नकाबपोश बदमाश पहुंचे। एसपी आफिस समीप होने के बावजूद डकैतों ने मनमाने तरीके से वारदात को अंजाम दिया। दशा यह थी कि बैग भर जाने के बाद बदमाश अपनी पैंट के जेब में आभूषण ठूंस रहे थे। फिल्मी अंदाज में आतंकित करने के लिए न सिर्फ फायरिंग की बल्कि मुठिया से वार कर संचालक का सिर फोड़ दिया। बदमाश 1.04 करोड़, 85 हजार के आभूषण व नगदी बटोर ले गये। सनसनीखेज वारदात की जानकारी मिलने के बाद से पूरी रात पुलिस जांच-पड़ताल में लगी रही।

व्यापारियों ने दिया अल्टीमेटम

घटना के विरोध के क्रम में अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल जौनपुर के प्रतिनिधियों ने लूट के घटना निंदनीय बताते हुए कहा कि अपराधियों में पुलिस-प्रशासन का भय लगभग समाप्त हो गया है। वारदात की हम घोर निंदा करते हैं और पुलिस प्रशासन से मांग करते हैं कि इसका खुलासा जल्द से जल्द होना चाहिए। भुक्तभोगी परिवार को संरक्षण देते हुए समस्त व्यापारियों की सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए जाएं। लूट का खुलासा जल्द से जल्द न हुआ तो व्यापार मंडल सड़क पर आकर प्रशासन की ईंट से ईंट बजाने का काम करेगा जिसके लिए प्रशासन स्वयं जिम्मेदार होगा।

Related posts