वाराणसी। शहर में बड़े पैमाने पर दो पहिया की चोरी होती है। कभी-कभार चार पहिया भी उड़ा दिया जाता है लेकिन इससे बड़े वाहनों को कोई जल्दी हाथ नहीं लगाया। यही कारण था कि सितम्बर के अंतिम सप्ताह में वरूणा कॉरिडोर से जेसीवी चोरी गई तो सहसा विश्वास नहीं हुआ। इस मशीन का इस्तेमाल करने वाले चुनिंदा होते हैं जो एक-दूसरे को जानते भी हैं। अलबत्ता चोरों को इस बात की जानकारी नहीं थी। उन्होंने चुरायी गयी जेसीवी को किरहिया (भेलूपुर) में काफी दिनों से बंद पड़े पिक्टर हाल कुसुम पैलेस मे रखा था। बेचने के लिए ग्राहक सेट किया तो पुलिस को भनक मिल गयी। नतीजा कैण्ट पुलिस ने मंगलवार की देर रात वरूणा पुल के पास से मुखबिर के निशानदेही पर चोरी की एक अन्य मोटरसाइकिल के साथ दो चोरो को गिरिफ्तार कर लिया। गिरफ्तार चोरों में सुदामापुर निवासी गोलू सोनकर तथा खोजवा भेलुपुर निवासी महेंद्र सेठ हैं।

सरगना समेत तीन की तलाश

सीओ कैंट का कार्यभार देख रहे एएसपी अनिल कुमार ने गिरफ्तार चोरों को जेसीवी समेत मीडिया के सामने पेश करते हुए बताया कि कैण्ट थाना प्रभारी विनोद कुमार राय कचहरी चौकी प्रभारी मनोज कुमार पांडेय एसआई संजीत कुमार मय हमराही वरूणा पल पर मौजूद थे। इस बीच मुखबिर ने सूचना दी कि चोरी की मोटर साइकिल के साथ दो लोग इधर आ रहे हैं। घेरेबंदी कर पकड़े गए गोलू सोनकर व महेंद्र सेठ ने बातया कि मोटरसाइकिल सिवान बिहार से चोरी की गई है। हम दोनों के साथ भुवनेश्वर नगर कालोनी तनिष्क सिंह,योगेंद्र यादव तथा चाक नेहाल ने मिलकर वरूणा कॉरिडोर से जेसीवी चुराई थी तथा उसे किरहिया कुसुम पैलेस जो बंद पड़ा है वहां रखा है। आज उसको बेचने के लिए शिवपुर ग्राहक के पास जा रहे थे कि पकड़े गए। पुलिस ने उनके निशानदेही पर चोरी गई जेसीवी बरामद किया है। पुलिस आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर अन्य की तलाश कर रही है।

admin

No Comments

Leave a Comment