जश्न-ए-आजादी: कमिश्नर की सफाईमित्र से झंडारोहण करा कर प्रेरणादाईं पहल, दिया यह संदेश

वाराणसी। सफाई मित्र चंंदा बानों ने एक दिन पहले तक सपने में भी नहीं सोचा था कि ‘आला हाकिम’ की सवारी उसके जर्जर घर पर आयेगी। इतना ही नहीं ‘साहेब’ की तरह वह बैठकर जायेगी और झंडाारोहण उसके हाथों से होगा। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने इस साल 73 वें स्वतन्त्रता दिवस पर अनूठी एवं लोगो के लिए प्रेरणादाई पहल की थी। स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर कमिश्नरी कार्यालय भवन पर सफाई मित्र चंदा बानो को राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए चयनित किया गया था। इस मौके पर अन्य छह सफाई मित्रों को माल्यार्पण एवं शाल ओढ़ाकर प्रशस्ति पत्र दे सम्मानित करते हुए कमिश्नर ने कहा कि स्वच्छता के प्रति सफाई मित्रों/सफाई कर्मियों के जज्बे को सलाम करना चाहिये।

पीएम उठा सकते हैं झाड़ू तो हम इतना ही रखे ध्यान

सफाईकर्मी चंदा बानो ने लोगों के लिए प्रेरणादायक संदेश देते हुए कहा कि स्वच्छता के लिए जब देश के पीएम मोदी झाड़ू उठा सकते हैं, तो इससे प्रेरित होकर प्रत्येक व्यक्ति को स्वच्छता के प्रति संवेदनशील एवं सतर्क रहना चाहिए। सुुबह छह बजे लोगो द्वारा किए गए गंदगी को साफ करने के लिए निकल पड़ते हैं और सफाई करने के बाद जब हम उन्हीं स्थानों पर पुन: कूड़ा फेंका देखते हैं तो तकलीफ होती है। चंदा ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि अपने घरों के कूड़े निर्धारित स्थान एवं समय पर ही फेके। एक बार सफाई एवं कूड़े की उठान हो जाने पर कूड़े को दूसरे दिन ही विसर्जित करें ताकि मौके पर साफ-सफाई बनी रहे। स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मंडल के आला अधिकारी द्वारा इतने बड़े पैमाने पर मिले सम्मान से चंदा बानो सहित अन्य सफाई मित्र भाव विभोर रहे।

Related posts