जौनपुर। दो माह पहले जिला जेल में विचाराधीन बंदी संजय की संदिग्ध हालात में मौत को लेकर सीजेएम कोर्ट ने सख्त रुख अख्तियार किया है। सीआईपीसी की धारा 156 (3) के तहत परिवाद का निस्तारण करते हुए कोर्ट ने जेल अधीक्षक व वार्डन समेत पांच के विरुद्ध गैर इरादतन हत्या का वाद दर्ज कर क्षेत्राधिकारी को जांच करने का आदेश दिया। यही नहीं जांच की बिंदुवार आख्या 8 जून तक पेश करने का भी आदेश हुआ। आदेश की भनक मिलने के बाद कारागार महकमे में हडकंप की स्थिति है।

धन न देने पर पीट कर मार डाला!

देवाकलपुर (केराकत) निवासी राजा राम ने कोर्ट में प्रार्थनापत्र दिया था जिसके मुताबिक उसका पुत्र दुष्कर्म के मुकदमे में जेल में बंद था। वादी पक्ष व सहअभियुक्त की साजिश में पहले जमानत के नाम पर रुपये की मांग की गई। मांग पूरी न होने पर जेल अधिकारी व कर्मचारियों द्वारा उसके पुत्र संजय को 28 मार्च को बुरी तरह से मारा पीटा गया जिससे उसकी मृत्यु हो गई। पुलिस से लेकर आला अफसरों से गुहार लगायी लेकिन कहीं पर सुनवाई न होते देख कोर्ट का सहारा लेना पड़ा। आरोपों की गंभीरता को देखते हुए सीजेएम ने जेल अधीक्षक व वार्डन समेत पांच के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 के तहत मुकदमा दर्ज कर सीओ को इसकी जांच सौंपी है।

admin

No Comments

Leave a Comment