बजना था एलार्म लेकिन मोबाइल से हो गया वृद्ध का काम-तमाम, मामला जानने के बाद उडे होश

सोनभद्र। शहर हो या गांव। मोबाइल पर लोगों की निर्भरता कुछ ऐसी हो गयी है कि वह इसे अपने से दूर हीं कर पाते। ऐसा खतरनाक हो सकता है लेकिन जानलेवा भी इसका अंदाजा वृद्ध रामजतन पटेल को नहीं था। राजपुर गांव (शाहगंज) के रहने वाले रामजतन शनिवार की देर रात सोने गये तो सुबह का एलार्म लग कर मोबाइल चार्जिग में लगा दिया। गलती इतनी की मोबाइल को सीने पर ही रख कर सो गये। रविवार की सुबह घरवाले पहुंचे तो होश् फाख्ता हो गये। रामजतन का मोबाइल ब्लास्ट कर गये था। धमाका कुछ ऐसा था कि उनके सीने में छेद हो गया था जिससे वह काल के गाल में समा चुके थे।

बैटरी फटना बना मौत का सबब

घर वालों का कहना था कि रामजतन मोबाइल वाइब्रेशन में लगाकर सोते थे और रोजाना सुबह टहलने के लिए निकलने को अलार्म भी लगाते थे। स्मार्ट फोन को वह रात में चार्ज किया करते थे। शनिवार की रात भी ऐसा हुआ था। भोर में तीन बजे कमरे से धमाके की आवाज पर परिवार के सदस्य पहुंचे तो कमरे में धुंआ फैला था और रामजतन बिस्तर पर मृत दशा में पड़े थे। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे एसओ भुवनेश्वर पाण्डेय का कहना है कि आरम्भिक जांच के बाद यही आशंका जतायी जा रही है कि मोबाइल की बैटरी ब्लास्ट कर गयी जिससे मौत हुई है।

Related posts