ईवीएम में गड़बड़ी, धांधली व मशीन पकड़े जाने को लेकर गलत एवं भ्रामक सूचना प्रसारित करने वाला गिरफ्तार

आजमगढ़। ईवीएम को लेकर सोमवार की रात चले ‘खेल’ को शासन ने गंभीरता से लेते हुए शरारती तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिये थे। सुनियोजित ढंग से अफवाह फैला कर लोगों को भड़काने के मामले में कार्रवाई सपा के मुखिया अखिलेश यादव जहां से चुनाव लड़ रहे हैं वहां पर की गयी है। फेसबुक से लेकर दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर अफवाह फैलाने वाले उमेश गौतम को इंस्पेक्टर कंधारपुर अंशुमान यदुवंशी ने मंगलवार को धर-दबोचा। आरोप है कि उमेश गौतम ने सोची समझी रणनीति के तहत ईवीएम को लेकर सोशल मीडिया पर अफवाह फैलायी थी जिससे विभिन्न राजनीतिक दलों व जनसमुदाय का सौहार्द्र व शान्ति व्यवस्था भंग होने की सम्भावना उत्पन्न हो गयी थी।

कांटे की टक्कर के बाद अफवाहों का सहारा!

गौरतलब है कि आजमगढ़ में अखिलेश यादव की कांटे की टक्कर भोजपुरी सुपरस्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ से है। वोटिंग से साफ हो गया था कि सपा दावे कुछ भी करे लेकिन निरहुआ का असर शहर से गांव तक रहा है। दूसरे जिलों में ईवीएम को लेकर अफवाहे फैलने से पहले ही उमेश गौतम ने अपने फेसबुक आइडी से कई जगह ईवीएम पकड़े जाने व गड़बड़ी किये जाने के की भ्रामक मिथ्या सूचना प्रसारित करना शुरू कर दिया था। साइबर सेल की जांच में स्पष्ट हो गया कि उमेश गौतम निवासी आखापुर (कन्धरापुर) इसके पीछे हैं। इस मामले में मुकदमा कायम करने के साथ तलाश शुरू की गयी और उमेश को धर-दबोचा गया। संबधित कोर्ट में पेशी के बाद आरोपित को जेल दाखिल करा दिया गया है।

Related posts