भांपकर एडीजी के तेवर शुरू हुआ कुछ इस तरह ‘सफाई’ का दौर, सर्विस रिवाल्वर साफ करने में दरोगा के अंगुली में लगी गोली

वाराणसी। नवागत एडीजी ब्रज भूषण लो प्रोफाइल रहते हैं लेकिन कामकाज को लेकर उनके मानक निर्धारित रहते हैं। इसमें कार्यप्रणाली के साथ थानों का साफ-सुथरा रहना शामिल है। बुधवार की आधी रात को उनके सिगरा थाने पहुंचने का असर दूसरे दिन देखने को मिला। एसएसपी आनंद कुलकर्णी से लेकर तमाम अधिकारी अपने आफिस से लेकर थानों तक की चेकिंग में जुट गये। माना जा रहा है कि एडीजी बगैर पूर्व सूचना के किसी स्थान का निरीक्षण करने पहुंच सकते हैं जिसे ध्यान में रखते हुए सब कुछ चाक-चौबंद करने का प्रयास चल रहा है।

सर्विस रिवाल्वर की सफाई करते वक्त चली गोली

बड़े पैमाने पर चल रहे सफाई अभियान में शाम को शिवपुर थाने पर उस समय खलबली मच गयी जब काशीराम आवास पुलिस चौकी के चौकी प्रभारी रमेश चंद्र दिवेदी ने अपना सर्विस रिवाल्वर साफ कर रहे थे कि अचानक ही गोली चल गई। गोली चौकी प्रभारी के बाएं हाथ की हथेली पर लगी है। अचानक हुए घटनाक्रम के बाद से थाना परिसर में हडकंप मच गयी और आनन-फानन में घायल दरोगा को उपचार के लिए निजी अस्पताल ले जाया गया। यहां चौकी प्रभारी की हालत खतरे के बाहर बतायी जा रही है। सूचना पर एसओ व सीओ कैन्ट के अलावा एसपीसिटी ने हॉस्पिटल पहुंचकर घायल चौकी प्रभारी की हालत के बारे में जानकारी ली।

एसएसपी ने पुलिस आफिस का किया निरीक्षण

एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने गुरुवार को जनसुनवाई से पहले पुलिस कार्यालय का भ्रमण किया गया। भ्रमण के दौरान जनशिकायत प्रकोष्ठ, टेलिफोन ड्युटी कक्ष, महिला सेल, प्रधान लिपिक शाखा आदि कार्यालयों में पायी गयी कमियों को तत्काल पूर्ण करने एवं साफ-सफाई हेतु सम्बन्धित को निर्देशित किया गया तथा प्रधान लिपिक कार्यालय में रखे गोपनीय दस्तावेजों को अद्यावधिक कराने हेतु प्रधान लिपिक को निर्देशित किया गया। उधर एसपी सिटी दिनेश सिंह ने अचानक कैन्ट थाने पहुंचे और निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने बैरक, बन्दीगृह और कार्यालयों के अलावा अभिलेखों के रख-रखाव पर भी निगाह दौड़ाई गयी। बैरकों में मूलभूत सुविधाओं को दुरुस्त रखने और अभिलेखों को और बेहतर तरीके से रखने आदि के निर्देश दिए।जनसुनवाई रजिस्टर की भी जांच की और वादियों के समस्याओं के दृष्टिगत त्वरित निस्तारण का दिया निर्देश दिया।

Related posts