पीएम किसान सम्मान निधि योजना के समयबद्ध क्रियान्वयन मे प्रशासन ने झोंकी ताकत, तैयार हो रही सूची

वाराणसी। इस साल के बजट में की गयी घोषणा के अनुरूप लघु एवं सीमांत कृषकों की आय बढ़ाने हेतु प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसानों) योजना की समयबद्ध तरीके से सुचारू रूप से लागू करने हेतु जनपद के तीनों तहसीलों के लेखपाल, राजस्व निरीक्षक विकास खंड स्तर से ग्राम पंचायत अधिकारी व किसान सहायकों को गांव-गांव भेज कर किसानों से उनके बैंक अकाउंट नंबर, आधार नंबर, मोबाइल नंबर व घोषणा पत्र शासन के निदेर्शों के क्रम में एकत्र किया जा रहा है। एडीएम (वित्त एवं राजस्व) ने बताया कि योजना क्रियान्वयन के प्रथम भाग में किसान पारदर्शी पोर्टल पर रजिस्टर्ड किसानों के डाटा का सत्यापन खतौनी से कराया जा रहा हैं। पात्र पाए गए ऐसे कृषक परिवार( पति, पत्नी व अवयस्क बच्चे) जिनके पास कुल मिलाकर संपूर्ण प्रदेश में 2.0 से कम भूमि है और उनका नाम खातेदार या सह खातेदार के रूप में दर्ज है। उन्हें प्रथम किस्त के रूप में सहायता प्रदान करने हेतु कृषि विभाग के पोर्टल पर अपडेट किया जा रहा है। सोमवार तक प्रथम भाग की कार्यवाही पूर्ण करनी है। राजस्व ग्राम खतौनी मैं पात्र अन्य सभी किसानों के विवरण भी पोर्टल पर 19 फरवरी, 2019 तक दर्ज किए जाने हैं।

गांवो का भ्रमण कर रहे अफसर

एडीएम ने बताया कि इस महत्वपूर्ण योजना को समय से पूर्ण करने हेतु तहसीलदार, एसडीएम व एडीएम भी ग्रामों का भ्रमण कर रहे हैं। जनपद के तीनों तहसीलों पर कंप्यूटर आॅपरेटर लगाकर दिन- रात कार्य करके डाटा फीड किया जा रहा है। वर्णित अभिलेखों की प्रतियों को विकास खंड के कर्मचारियों व तहसील के कर्मचारियों के माध्यम से तहसील पर जमा कराने पर डाटा शीघ्र फीड कर दिया जा रहा है। एडीएम वित्त एवं राजस्व ने एसडीएम राजातालाब व पिण्डरा के साथ मेंहदीगंज एवं अन्य ग्रामीण क्षेत्रों का रविवार को भ्रमण कर प्रधानमंन्त्री किसान सम्मान निधि योजना के बारे मे किसानो को संबोधित किया गया तथा किसानों को योजना से लाभ प्राप्त करने हेतु जागरूक भी किया गया।

Related posts