सोनभद्र। आदिवासी बाहुल्य इलाके के कांचन गांव (म्योरपुर) स्थित छुरछुरिया टोले में सुनसान जगह पर रह रहे अधेड़ आदिवासी दंपति हंसलाल (55) और उसकी पत्नी राजमत (50) की शनिवार की रात धारदार हथियार से काट कर निर्मम हत्या कर दी गयी। गांव में 18 दिन पहले बीमारी से सुरेंद्र नामक युवक की मौत के बाद भूत प्रेत लगाने का आरोप इन्ही दंपति पर लगाया था और जान से मारने की धमकी भी दी थी। मौके पर पहुचे एएसपी डा. अवधेश कुमार ने बताया कि दोनों की हत्या बलुआ (गड़ासा)से की गई प्रतीत हो रही। मामले की गहनता से जांच की जा रही है। प्रधान कुदुश खान के अनुसार 15 साल से दंपति पुराने घर से एक किमी दूर पाही पर घर बना के रहते थे। दंपति की हत्या की जानकारी रविवार को उस समय हुआ जब एक चरवाहा बकरी चराता हुआ उधर से गुजरा तो देखा कि एक महिला की लाश दरवाजे के चौकठ पर और सर बाहर पड़ा है। उसने गांव में सूचना दी और प्रधान के माध्यम से पुलिस को जानकारी दी गयी।

चार लोगों के खिलाफ नामजद रपट दर्ज

जब पुलिस टीम मौके पर पहुची तो चारपाई पर हंस लाल की लाश भी पड़ी थी और उसकी भी गर्दन काटी हुई थी जिसके आसपास खून जम गया था। दंपति के पुत्र राम दुलारे की तहरीर पर पुलिस ने एक ही परिवार के चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। मौके पर सीओ अवधेश सिंह, इंस्पेक्टर दुद्धी, इंस्पेक्टर बभनी, डॉग स्कॉयड समेत अन्य पुलिस अधिकारी मौजूद रहे। वारदात की जानकारी मिलने के बाद गांव में कोहराम मच गया और घटना स्थल पर सैकड़ो की भीड़ जुट गई।

admin

No Comments

Leave a Comment