आजमगढ़। तीन दिन पहले राइस मिल के प्रबंधक बबलू जायसवाल से पांच लाख लूटने वाला कुख्यात अपराधी बिल्लू उर्फ बालेश्वर शनिवार की देर शाम फिर किसी वारदात को अंजाम देने के लिए निकला लेकिन पुलिस ने घेर लिया। बचाव की खातिर बालेश्वर ने फायर करते हुए भागने की कोशिश की लेकिन कोतवाली प्रभारी योगेन्द्र बहादुर सिंह के संग पुलिस टीम ने जवाबी फायरिंग की। बालेश्वर के पैर में गोलियां लगी जिससे वह बाइक से गिर गया। बाइक भी असंतुलित होकर गिरी लेकिन दूूसरा बदमाश अंधेरे में भागने में सफल रहा। बालेश्वर के बैग की तलाशी ली गयी तो उसमें से सवा लाख रुपये बरामद हुए जो तीन दिन पहले की लूट के थे। घायल बदमाश को वाराणसी रेफर किया गया है।
दिन दहाड़े लूट कर दी थी पुलिस को चुनौती
एसपी के रूप में अजय साहनी के कार्यबार संभालने के बाद आजमगढ़ में तीन शातिर अपराधी पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारे जा चुके हैं जबकि एक दर्जन आत्मसमर्पण कर जेल जा चुके हैं। बावजूूद इसके बालेश्वर ने अपने साथी के संग दिन दहाड़े वारदात को अंजाम देकर पुलिस को चुनौती दी थी। सीसी फुटेज में पूरा घटनाक्रम कैद था जिसके आधार पर बालेश्वर के उपर इनाम की घोषणा की गयी थी। मुठभेड़ में जख्मी होने के बाद बालेश्वर ने एसपी की पूछताछ में कबूल किया कि लूूट की शेष धनराशि उसके साथी दिलीप कंजड़ के पास है। बालेश्वर के खिलाफ पहले भी संगीन धाराओं के तहत मुकदमे दर्ज हैं और जमानत पर छूटने के बाद वह फरार हो गया। कोर्ट ने भी उसे फरार घोषित कर दिया था।

admin

No Comments

Leave a Comment