वाराणसी। निकाय चुनाव से निवृत्त होने बाद डीएम योगेश्वर राम मिश्र एक बार फिर से एक्शन के मोड आ चुके हैं। शासन कें निर्देश पर पहली जनवरी से 31 मार्च तक चलने वाले एंटी भू माफिया को लेकर उन्होंने अधीनस्थों को खास निर्देश दिये है। डीएम का कहना है कि इस विशेष अभियान में थाना स्तर से लेखपाल एवं पुलिस की टीम गठित कर ग्राम सभाओं में भेजा जायेगा और सार्वजनिक भूमि पर हुए अवैध कब्जे को तत्काल हटवाकर उसे अवैध कब्जामुक्त कराया जायेगा। उन्होने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि अभियान के दौरान किसी भी स्तर पर ढिलाई न बरती जाय। अभियान के तहत प्रत्येक ग्राम सभाओं में टीमें भेजी जायेगी और सार्वजनिक भूमि को अवैध कब्जे से मुक्त कराया जायेगा। इसके अलावा डीएम ने आईजीआरएस पोर्टल पर प्राप्त शिकायती पत्रों के निस्तारण के प्रगति की समीक्षा के दौरान विभागीय स्तर पर लम्बित प्रार्थना पत्रों को रविवार को शत-प्रतिशत निस्तारित किये जाने हेतु संबंधित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया। बैठक में राजस्व अधिकारियों सहित सभी थाना प्रभारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

तालाबों पर कब्जा करने वालों की खैर नहीं

उधर अपर आयुक्त प्रशासन ओम प्रकाश चौबे शनिवार को मण्डलीय अनुश्रवण कक्ष में बैठक के दौरान कुरूक्षेत्र तालाब के भूखण्ड पर अनाधिकृत तरीके से दर्ज नामों को कटवाने के साथ ही चिन्हिंत अतिक्रमण को हटवाये जाने का निर्देश दिया। उन्होने तुलसीपुर तालाब की पैमाइश कराये जाने हेतु एसडीएम को निर्देशित किया। उन्होंने नदेसर तालाब का अवस्थापना निधि सौन्दर्यीकरण कराये जाने हेतु नगर निगम के अधिकारी को निर्देशित किया। गोगा बाई तालाब के भूखण्ड पर अनाधिकृत तरीके से दर्ज नामों को निरस्त करने के साथ ही स्वीकृत मानचित्र को निरस्त कर समयसीमा निर्धारित मौके पर हुए अतिक्रमण को हटाये जाने का भी निर्देश दिया। उन्होने सुशकटेश्वर तालाब पर हटाये गये अतिक्रमण की जानकारी पर दोबारा अतिक्रमण न होने पर विशेष जोर दिया। उन्होने शहर के चिन्हिंत तालाबो एवं कुण्डो को अतिक्रमण मुक्त कराये जाने पर जोर दिया। बैठक में एसडीएम सदर सहित नगर निगम एवं वीडीए के अधिकारी आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

admin

No Comments

Leave a Comment