भदोही। सुरियावां इलाके में पासपोर्ट और वीजा बनवाने के नाम पर ठगी करने का एक मामला सामने आया है। पुलिस ने इस मामले में कोर्ट के आदेश पर एक शख्स को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार सुभाष कुमार नाम के एक शख्स ने तीन लोगों को अपना शिकार बनाया था। सुभाष ने तीनों पीड़ितों से तीन लाख साठ हजार रुपए ऐंठे थे।

 

पासपोर्ट-वीजा के नाम पर थमाया नकली कागज

 

पुरानी बाजार निवासी सुहेल, अजहरुद्दीन और मोहम्मद हसन नाम के तीन लड़के जालजासी का शिकार हुए हैं। बेरोजगारी से तंग आकर तीनों विदेश में जाकर नौकरी करना चाहते थे। लेकिन सबसे बड़ी परेशानी पासपोर्ट और वीजा की थी। तीनों ने सुभाष से संपर्क किया। सुभाष ने कागजात बनाने के लिए हर एक से एक लाख बीस हजार रुपए लिए। इसके बाद तीनों को अपने साथ दिल्ली ले गया। कुछ दिन ऑफिस के चक्कर काटने के बाद सुभाष ने तीनों को पासपोर्ट और वीजा थमा दिया। इस बीच जब तीनों दोस्तों ने नौकरी के लिए अप्लाई किया तो पासपोर्ट और वीजा नकली निकला।

 

कोर्ट के आदेश पर दर्ज हुआ मुकदमा

 

इस बीच तीनों ने सुभाष की खोजबीन शुरु की। सुभाष का मोबाइल भी बंद था। इसके बाद थक हारकर तीनों वापस घर चले आए और सुभाष की तलाश में जुटे रहे। फिर कई महीने बाद सुभाष अपने घर आया तो तीनों पीड़ित उसके पास पहुंचे और अपने पैसे की मांग करने लगे। जब सुभाष ने पैसे नहीं लौटाए तो तीनों ने उसके खिलाफ सुरियावां थाने में तहरीर दी लेकिन मुकदमा दर्ज नहीं हुआ। इसके बाद तीनों पीड़ित न्यायालय की शरण ली जिसके बाद दिसंबर 18 को मुकदमा पंजीकृत हुआ। इसमें सब इंस्पेक्टर रमेश सिंह ने पट्टी बेजाव स्थित सुभाष के घर जाकर उसे गिरफ्तार कर लिया।

admin

No Comments

Leave a Comment