पूर्व प्रधानपति हत्या मामले में आक्रोशित लोगों ने शव रखकर लगाया जाम, सीएम से की यह मांगतो पुलिस ने कराया शांत

जौनपुर। जटौरा गांव (बरसठी ) के पूर्व प्रधानपति नीलू सिंह की हत्या मामले में आक्रोशित समस्त बरसठी बाजार वासियों ने शुक्रवार अपनी दुकान बंद कर आक्रोश जताया। परिजनों के संग और समर्थक इस मामले में सीएम से पांच सूत्रीय मांग को लेकर शव को बरसठी बाजार के तिराहे  पर रखकर चक्का जाम कर दिये। प्रदर्शनकारी मांगें पूरी होने पर ही दाह संस्कार करने पर जोर दे रहे थे। मामले की गंभीरता देखते हुए आला अधिकारी मौके पर पहुंचे। कई राउंड चली बातचीत और शासन तक मांग पहुंचाने के संग पूरा कराने के आश्वासन पर ढाई घंटे बाद जाम समाप्त हो सका।

सीएम से रखी थी यह मांग

प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व कर रहे मृतक के भाई अजित नारायण सिंह की मांग रखी थी कि जब तक सीएम से बात कर हमारी पांच मांगें नहीं पूरी होगी शव यहीं रहेगा। इनमें मृत भाई की विधवा पत्नी और दो नाबालिक बच्चों के जीवन यापन के लिये 50 लाख नकद मुआवजा, दोनों बच्चों की शिक्षा का खर्च सरकार उठायें, परिवार में किसी एक व्यक्ति के नाम लाइसेंसी असलहा, लड़के या लड़की को बालिग होने पर किसी एकको सरकारी या विधवा को सरकारी नौकरी दिया जाय और हत्या में शामिल षडयंत्रकारियों की अविलंब गिरफ्तारी व पूरे घटना क्रम में शामिल अधिकारियों को अविलंब निलंबित कर जिस रास्ते के विवाद में भाई की जान गई है उसे हल कराएं। जब तक ये मांगेंपूरी नहीं होती हैं हम शव का दाह संस्कार नहीं करेंगे।

रास्ते के विवाद में हुई थी हत्या

आरोप है कि गुरुवार को नीलूसिंह कहीं से घर जा रहे थे कि गांव के कुछ लोगों ने रोककरउन्हें रास्ते के विवाद को हल करने के लिए कहा। रास्ता घेरने केआरोपित पंचायत मित्र इस दौरान वहां पहुंच गए। नीलू सिंह नेपंचायत मित्र से कहा कि आपके द्वारा बाउंड्री बनाने से बस्तियोंके लोगों को आने जाने में परेशानी हो रही है। इसी बात कोलेकर पंचायत मित्र को समझा रहे थे कि गुस्से में उसने चाकूनिकाला और सीधे उनकी गर्दन पर मार दिया। चाकू सीधे उनकेगर्दन पर लगी और खून बहने लगी। धीरे-धीरे हालत गंभीरहोने पर उन्हें सीधे जिला अस्पताल ले गए जहां उनकी मौत होगई।

Related posts