वाराणसी। पूर्वांचल की संवेदनशीलता और संगठित अपराधों के वर्चस्व को ध्यान में रखते हुए एडीजी जोन की जिम्मेदारी पीवी रामाशास्त्री को सौंपी गयी है। मूल रूप से तेलंगाना के गोदावरी जिले के निवासी पीवी रामा शास्त्री 1989 बैच के आईपीएस अधिकारी है। शनिवार को कार्यभार ग्रहण करने के बाद मीडिया से बातचीत में उन्होंने अपनी प्राथमिकता साफ कर दी है। शासन की नीतियों को प्रभावी ढंग से लागू कराने के साथ आम जनता में सुरक्षा की भावना जगाना उनकी प्राथमिकता में शामिल है। पूर्वांचल में कुछ दिनों तक एसपी बलिया के रूप में उनकी तैनाती रही है। जोन में तैनाती से पहले वह केन्द्र में प्रतिनियुक्ति पर जॉइंट सेक्रेटरी (कन्ज्यूमर अफ्फेयर्स) के रूप में सेवाएं दे चुके हैं। इसके अलावा भारत सरकार की सर्वोच्च जांच एजेंसी एनआईए में आईजी के रूप में भी वह अपनी सेवाएं दे चुके है।

पर्यटक थाने के प्रस्ताव में दिखायी रुचि

काशी में प्रतिवर्ष लाखों की संख्या में देशी-विदेशी पर्यटक आते हैं। बावजूद इसके यहां पर पर्यटक थाने का प्रस्ताव एसएसपी स्तर पर रुका है। इसमें एडीजी ने रुचि दिखाते हुए कहा कि जल्द इसे लागू कराया जायेगा। जेलों से अपराध का संचालन नहीं होने दिया जायेगा और इस पर सख्त कार्रवाई की जायेगी।

admin

No Comments

Leave a Comment