जमीन के विवाद में बनारस से गये होटल मालिक ने अंधाधुंध गोली बरसायी, पिता की मौत और बेटे की गंभीर दशा देख लगा जाम

भदोही। जमीन के विवाद में राजस्व विभाग नियमों की किस तरह अनदेखी करता है इसका नमूना शुक्रवार को ज्ञानपुर कोतवााली के चकटोडर गांव में देखने को मिला। बनारस से गये एक होटल मालिक के संग राजस्व विभाग की टीम विवादित जमीन पर कब्जा कराने के लिए जा पहुंची। वहां पर पहले से काबिल लोगों ने विरोध किया जिसके बाद विवाद बढ़ता गया। आरोप है कि होटल मालिक ने पिस्टल निकाल कर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। नजदीक के चलायी गोली लगे के रविंद्रपति तिवारी (46) की मौत हो गयी जबकि उनके पुत्र मुकेश (18) की हालत च्तिाजनक बनी है। वारदात के बाद भड़के लोगों ने ज्ञानपुर कस्बे में राजा पार्क के समीप भदोही मुख्य मार्ग पर शव रखकर जाम लगा दिया है। मौके पर पहुंचे एडीएम, अपर पुलिस अधीक्षक संजय और क्षेत्राधिकारी ने सख्त कार्रवाई का भरोसा दिलाते हुए जाम समाप्त कराया।

नेवासा की जमीन को लेकर था विवाद

बताया जाता है कि होटल मालिक को चकटोडर गांव में कुछ जमीन नेवासे में मिली थी। उसके बाद उन्होंने कुछ दूसरी जमीन भी खरीदी। जमीन पर कब्जे को लेकर काफी दिनों से विवाद चल रहा था। इससे पहले भी कब्जा करने की कोशिश हुई थी जो सफल नहीं हो सकी। दूसरी तरफ इसी जमीन के किसी हिस्से को लेकर चकटोडर गांव के रहने वाले गोशाला संचालक रविंद्रपति तिवारी से भी विवाद था। शुक्रवार को राजस्व विभाग की टीम को लेकर पहुंचे होटल मालिक ने कब्जे का प्रयास किया जिसका स्थानीय लोगों ने विरोध किया। सुबह 10 बजे होटल मालिक संग साथ आये कुछ लोगों ने उनको गोली मार दी। इसके साथ ही उनके पुत्र मुकेश के बाएं जांघ में भी लगी गोली। आनन फानन में परिजन घायल पिता पुत्र को अस्पताल ले कर गए जहां इलाज के दौरान रविंद्रपति तिवारी ने दम तोड़ दिया।

लेखपाल-कानूनगो भी आरोपितों में

इस मामले में पुलिस ने त्वरित कारर्वाई के तहत होटल मालिक के संग उनके एक करीबी को गिरफ्तार किया है। राजस्व विभाग की टीम ने पुलिस को ोअंधेरे में रखते हुए कब्जा दिलाने का प्रयास किया था जिस पर मौके पर पहुंचे कानूनगो-लेखपाल के साथ कुछ और राजस्वकर्मियों को आरोपित बनाया गया है।

Related posts