मुख्तार के मऊ में नागरिकता संशोधन विधयक के विरोध में जबरदस्त धरना-प्रदर्शन, पुलिस को करनी पड़ी खासी मशक्कत

मऊ। सदर विधायक बाहुबली मुख्तार अंसारी भले ही जेल की सलाखों के पीछे हो लेकिन उनके इलाके में सोमवार को नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएए) के खिलाफ जमकर धरना-प्रदर्शन हुआ। मऊ नागरिक मंच की की तरफ से मऊ जिला मुख्यालय के कलेक्ट्रेट परिसर में भीड़ के चलते पुलिस का खासी मशक्कत करनी पड़ी। धरने में सपा, बसपा, कांग्रेस बामदल के अतिरिक्त मऊ के बुनकरों, व्यपारियों और महिलाओं ने बड़ी संख्या में भाग लिया। धरना स्थल तक पहुचने में सदर चौक, मिर्जहदीपुरा, खिरीबाग रोड, चांदपुरा रॉड, रघुनाथपुरा से मुंशीपुरा तक के लोग आना आरम्भ हुए हुए। कोपागंज, घोसी, पुराघाट, मोहम्दाबाद, खैराबाद, वलीदपुर, अदरी, से भी लोगो ने बड़ी संख्या में हिस्सा लिया।

आरएएफ भी संभाले थी सुरक्षा की कमान

धरना स्थल पर सुरक्षा की कमान एएसपी ने अपने अधीनस्थों और पीएसी साथ सभाल रखी थी तो वहीं आरएएफ के जवान नगर की सभी सड़को पर मोर्चा सभालने में लगे थे। पूर्व चेयरमैन अरशद जमाल लगातार यातायात ब्यवस्था और आने वाले जवानों को समझाते देखे गए। स्टेज की कमान सालिम अंसारी, अरविंद मूर्ति, कॉमरेड इम्तेयाज, वीरेंद्र कुमार, अल्ताफ अंसारी और हाजी इकबाल मोहम्मदी ने सभाल रखी थी। धरने के उपरांत सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश को सम्बोधित मांगपत्र मऊ नागरिक मंच के संयोजक अरविंद मूर्ति ने पढ़कर वहां मौजूद जनता से हाथ उठवाकर पास कराया। ज्ञापन में कहा गया कि सरकार द्वारा संसद से पारित राष्ट्रीय न्यायिक नियुक्ति आयोग(एनजेएसी)को कानून बनने के बाद जिस तरह से सुप्रीम कोर्ट द्वारा रद्द किया गया उसी तरह संविधान विरोधी संसद द्वारा पारित *नागरिकता संशोधन कानून को भी रद्द किया जाए।

इन्होंने कियासभा को संबोधित

सभा को मुख्य रूप से पूर्व विधायक इम्तियाज अहमद, पूर्व विधायक सुधाकर सिंह,पूर्व विधायक अमरीश चंद्र पांडे, पूर्व विधायक बैजनाथ पासवान, वरिष्ठ वामपंथी नेता जयप्रकाश नारायण, सपा जिलाध्यक्ष धर्म प्रकाश यादव, नगर पालिका अध्यक्ष तैय्यब पालकी, पूर्व चेयरमैन अरशद जमाल, राष्ट्र कुंवर सिंह, अर्चना उपाध्याय, राम सोच यादव, वीरेंद्र कुमार, बसंत कुमार, जयप्रकाश धूमकेतु, राम अवतार सिंह,हाजी इकबाल मोहम्मदी, यूपी राय एडवोकेट, त्रिभुवन शर्मा, अल्ताफ अंसारी, इकबाल अंसारी, रामजी सिंह सहित दर्जनों नेताओं ने संबोधित किया। जनसभा का संचालन अरविन्द मूर्ति ने किया।

Related posts