प्रभारी मंत्री के सामने विधायक को दिखाया ‘आइना’ तो करना पड़ा धक्का-मुक्की का सामना, अपने कार्यकर्ता को बताने लगे ‘कांग्रेसी’

वाराणसी। प्रदेश की विधानसभा के बाद लोकसभा चुनावों में प्रचंड जीत हातिल करने वाले पीएम मोदी और सीएम योगी का एजेंडा विकास हो सकता है लेकिन उनके ‘जनप्रतिनिधि’ इसकी बात सुनते ही आपा खो बैठते हैं। रविवार को कुछ ऐसा ही मंजर जिले के प्रभारी नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना के कार्यक्रम में देखने को मिला। पीएम के संसदीय क्षेत्र में तेलियाबाग प्राथमिक स्कूल में पौधरोपण कर निकलते समय एक भाजपा कार्यकर्ता ने उनसे शहर के खस्ताहाल सड़क देखने का आग्रह किया। मंत्री के साथ चल रहे शहर उत्तरी के विधायक रविंद्र जयसवाल ने उसे न सिर्फ खरी-खोटी सुनायी बल्कि कांग्रेस का एजेंट तक करार दिया। बात इतने तक सीमित नहीं रही बल्कि हाथापायी तक की गयी।

मीडियाकर्मियों को भी नहीं बख्शा

मामला प्रभारी मंत्री और भाजपा विधायक के साथ पार्टी कार्यकर्ता की नोंकझोक का देख मीडियार्की इसका कवरेज करने लगे तो उन्हें भी नहीं बख्शा गया। दबंगई दिखाते हुए ना सिर्फ गाली-गलौज की बल्‍िक मीडियाकर्मियों से धक्का-मुक्की और हाथापाई करते हुए जान से मारने की धमकी तक दे डाली गयी। भी की गयी। शर्मनाक यह रहा कि किसी ने इसे रोकने की कोशिश तो दूर बोलने तक की जहमत नहीं उठायी। बहरहाल मीडियाकर्मियों ने पार्टी आला कमान व प्रदेश अध्यक्ष से लेकर काशी प्रांत अध्यक्ष महेश चंद्र श्रीवास्तव से इसकी शिकायत की है।

कुछ इस तरह बढ़ा विवाद

नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना रविवार को विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के साथ स्थानीय अफसरों के साथ बैठक करने वाले थे। मौका उचित मानकर क्षेत्रीय भाजपा कार्यकतार्ओं ने एक सड़क की दुर्दशा की तरफ उनका ध्यान दिलाते हुए स्थालीय निरीक्षण करने का अनुरोध किया। इलाका विधायक रविंद्र जायसवाल जो हत्थे से उखड़ गये। नसीहत देते हुए कहा कि यह मौका नहीं है समस्याओं को बताने का। इसके बारे में बाद में बात करेंगे। कार्यकर्ता ने जोर दिया तो विधायक रविंद्र जयसवाल ने उसे कहा कि उसे न सिर्फ कांग्रेस के एजेंट बताया बल्कि यहां तक कह डाले कि तुम तो उनके नामांकन में भी थे। मामला सोशल मीडिया में वायरल होने पर मैनेज करने के प्रयास किये जा रहे हैं।

Related posts