संदिग्ध हालात में स्कूल के शौचालय में मासूम छात्रा ने केरोसिन डालकर आग लगाई, तमाम कोशिश के बाद गुत्थी सुलझ नहीं पायी

भदोही। औराई के सेंट जॉन्स स्कूल में सोमवार की सुबह उस समय अफरा-तफरी मच गयी जब शौचालय से मासूम के बचाव की गुहार संग आग की लपटें दिखने लगी। आनहोनी की आशंका से सभी सकते में रह गये क्यों कि मांस जलने की गंध आ रही थी। दरवाजा खोला गया तो कक्षा तीन की छात्रा श्रेयांसी बरनवाल (7) गंभीर रूप से झुलसी मिली। टीचरों ने झुलसी छात्रा को नजदी की अस्पताल में भर्ती कराया जहां उसकी दशा गंभीर देख वाराणसी रेफर कर दिया गया। स्कूल प्रशासन का दावा है कि की छात्रा घर से केरोसिन लेकर आई थी। उसने टायलेट में जाकर खुद को आग लगा लिया लेकिन क्यों नहीं बतापा रहे हैं। बहरहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

भाई के साथ आटो से आयी थी स्कूल

घोसिया (औराई) निवासी संगीत बरनवाल की बेटी श्रेयांसी बरनवाल अपने भाई श्रेयांस (5) के साथ औराई स्थित सेंट जॉन्स स्कूल में पढ़ने आयी थी। श्रेयांस कक्षा एक में पढ़ता है। सोमवार की सुबह 8:30 बजे दोनों आटो से स्कूल पहुंचे। थोड़ी देर में स्कूल के शिक्षकों को जानकारी मिली की छात्रा झुलस गई है। स्कूल प्रशासन का दावा है की छात्रा की मां ने उसके भाई को किसी बात पर मारा था जिससे दुखी होकर उसने ऐसा कदमउ ठाया। पुलिस अधिकारियो ने शिक्षकों से पूछताछ कर छात्रा के परिजनों से भी फोन पर बात की है। पुलिस का कहना है की छात्रा अपने बैग में डिब्बे में केरोसिन तेल लेकर आई थी और उसने खुद को आग लगाई है। वही पुलिस को इस मामले में स्कूल प्रशासन ने घंटो बाद सूचना दी गई। पुलिस के साथ बीएसए अमित कुमार भी स्कूल पहुंच कर जांच में जुट गए है।

स्कूलों में ऐसी वारदात से अभिभावक निराश

स्कूल की वाइस प्रिन्सिपल ऐंजल मैथ्यू ने बताया है कि श्रेयांसी निजी आटो से स्कूल आयी और सीधे भाई के साथ टायलेट गई। यहां भाई को बाहर खड़ा कर आग लगा लिया। वह केरोसिन और माचिस स्कूल बैग में लेकर आयीं थी। बाद में आग लगने पर चिल्लाने लगी तो उसका भाईरोने लगा। फिर स्कूल का स्टाफ भागकर आया और दरवाजा तोड़कर उसे बाहर निकाला। सीओ औराई लेराज ने भी यही दोहराया है। जिले की इस तरह कि यह पहली घटना है। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

Related posts